दुर्गाबाई कामत (१८९९ - १७ मई १९९७) भारतीय फिल्मों में पहली महिला अभिनेत्री थी।

१९०० के दशक की शुरुआत में, फिल्म या थिएटर में अभिनय करना महिलाओं के लिए निषेध था, इसलिए भारतीय सिनेमा के पितामह दादा साहेब फाल्के की पहली फिल्म, राजा हरिश्चन्द्र, में पहली बार महिला किर्दारोंके लिए पुरुष अभिनेताओं का इस्तेमाल करना पड़ा। फालके की दुसरी फिल्म मोहिनी भस्मासुर (१९१३) में कामत ने देवी पार्वती का किर्दार निभाकर पहली अभिनेत्री बनी। साथ में उनकी बेटी कमलाबाई गोखले ने इसी फिल्म में मोहिनी की भूमिका निभाई। [1]

दुर्गाबाई कामत के पोते थे अनुभवी मराठी अभिनेता चंद्रकांत गोखले (कमलाबाई के बेटे)[2] और परपोते थे अभिनेते विक्रम गोखले और मोहन गोखले

सन्दर्भसंपादित करें

  1. Meera Kosambi (२०१७). Gender, Culture, and Performance: Marathi Theatre and Cinema before Independence. Routledge. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 9781351565899. मूल से 9 जनवरी 2019 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 9 जनवरी 2019.
  2. "Veteran actor Gokhale dead". The Times of India. २१ जून २००८. मूल से 26 जनवरी 2019 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि ९ जनवरी २०१९.