मुख्य मेनू खोलें

सर्वास्तिवाद दर्शन के प्रवर्तक गुरुओं एवं ग्रन्थकारों को धर्मत्रात कहते हैं। 'धर्मत्रात' का शाब्दिक अर्थ है- 'धर्म का रक्षक'। चीनी में धर्मत्रात का लिप्यन्तरण यह है : 達磨多羅 और चीनी भाषा में अनुवाद यह है : 法救 ।