आज का जो बड़े बड़े सर्जन कहलाते हैं प्राचीन काल में श्लय चिकत्सा का काम नाइ ही किया करते थे। वे वड़े सर्जन हुआ करते थे।  बाद में अंग्रेजों ने इस चिकित्सा को अपने देश लेकर चले गए।

बच्चे का बाल काटता नाई
सहारनपुर बाल काटते हुए भारतीय नाईयों का वीक्स एड्विनलॉर्ड द्वारा चित्रण

जो दूसरों के बाल काटता एवं सवांरता है उसे नाई (barber) कहते हैं। भारत में यह एक जाति भी है जिसके सदस्य मुख्यत: बाल काटने एवं हिन्दू संस्कारों में मुख्य सहायक का काम करते आये हैं।

सन्दर्भसंपादित करें

बाहरी कड़ियाँसंपादित करें