नाराज़

1994 की महेश भट्ट की फ़िल्म

नाराज़ 1994 में बनी हिन्दी भाषा की एक्शन फिल्म है। इसको महेश भट्ट ने निर्देशित किया और मुख्य कलाकार मिथुन चक्रवर्ती, पूजा भट्ट, अतुल अग्निहोत्री, सोनाली बेंद्रे और गुलशन ग्रोवर हैं।

नाराज़
नाराज़.jpg
नाराज़ का पोस्टर
निर्देशक महेश भट्ट
निर्माता मुकेश भट्ट
अभिनेता मिथुन चक्रवर्ती,
पूजा भट्ट,
अतुल अग्निहोत्री,
सोनाली बेंद्रे,
अवतार गिल,
गुलशन ग्रोवर
देवेन भोजानी
संगीतकार अनु मलिक
छायाकार प्रवीण भट्ट
प्रदर्शन तिथि(याँ) 19 अगस्त, 1994
देश भारत
भाषा हिन्दी

संक्षेपसंपादित करें

देवा (मिथुन) एक गरीब है जो अपने पिता के साथ रहता है। देवा केवल ये चाहता है कि उसके इलाके को साफ पानी मिल जाए। देवा एक अमीर आदमी अजय (अतुल अग्निहोत्री) से मित्रता करता है जो देवा की दुर्दशा में मदद करता है। एक पुजारी "पंडित" ने अजय के चाचा जगदंबर के आदेश पर पानी में जहर मिला दिया जिससे कई लोग मर जाते हैं। जगदंबर लोगों को बाहर करना चाहता है ताकि वह लाखों लोगों की भूमि को अमेरिकी कंपनी को बेच सकें। क्रोध में देवा ने पुजारी और अजय के चाचा को एक मंत्री के साथ मार दिया जो अजय के चाचा की मदद कर रहा था। देवा भारत छोड़ता है और अनजाने में मलेशिया में एक जहाज पर पहुँच जाता है। वहां वह ताओक (गुलशन ग्रोवर) से मिलता है जब वह उसका जीवन बचाता है। काम की उसके तरीके से असहमत होने के बाद देवा भयभीत अपराधी बन गया, यहां तक ​​कि ताओक का दुश्मन बन गया। वह सोनिया (पूजा भट्ट) और जाकिर से मिलता है और साथ में वे ताओक के अन्याय के खिलाफ लड़ते हैं। वह और उसके मित्र मलेशिया के पुलिस आयुक्त प्रीतम सिंह (अवतार गिल) से भाग रहे हैं।

मुख्य कलाकारसंपादित करें

संगीतसंपादित करें

सभी अनु मलिक द्वारा संगीतबद्ध।

क्र॰शीर्षकगीतकारगायकअवधि
1."तेरे बिना मैं कुछ"राहत इन्दौरीकुमार सानु, उदित नारायण,6:01
2."कितनी हसीन है रात"हसरत जयपुरीकुमार सानु5:51
3."रोजा रोजा सयंग सयंग रे"देव कोहलीअलीशा चिनॉय7:19
4."संभाला है मैंने"क़तील शिफाईकुमार सानु7:03
5."तुम्हें हम क्या समझते"फैज़ अनवरकुमार सानु8:21
6."ऐसा तड़पाया मुझे दिल बेकरार ने"माया गोविंदईला अरुण6:14
7."अगर आसमान तक मेरा"ज़मीर काज़मीमुकुल अग्रवाल, अलका याज्ञनिक5:06

बाहरी कड़ियाँसंपादित करें