पंकज मिश्र

भारतीय लेखक

पंकज मिश्र (जन्म 9 फ़रवरी 1969) एक भारतीय निबंधकार, उपन्यासकार और समाजवादी हैं। इनके गैर-गल्प लेखन कार्यों में टेम्पटेशंश ऑफ़ दि वेस्ट: हाउ टू बी मॉडर्न इन इंडिया, पाकिस्तान, तिबेट, एंड बियोंड, फ्रॉम दि रुइन्स ऑफ़ एम्पायर: दि इंटेलेक्चुअल्स हू रिमेड एशिया, और अ ग्रेट कामर: एन्काउंटर्स विद चाइना एंड इट्स नेबर्स शामिल हैं। इन्हें 2000 में प्रकाशित उपन्यास दि रोमांटिक्स से शुरूआती प्रसिद्धि हासिल हुई थी। इनके लेख कई प्रतिष्ठित सामयिक प्रकाशनों में शामिल रहे हैं जिनमें दि गॉर्डियन, दि न्यू यॉर्क टाइम्स, दि न्यू यॉर्कर इत्यादि विशेष रूप से उल्लेखनीय हैं। सलिल त्रिपाठी, नियल फ़र्गुसन और जॉर्डन पेटरसन जैसे लोगों के साथ इनके साहित्यिक विवाद भी चर्चा का विषय रह चुके हैं। 2014 में इन्हें गैर-गल्प (नॉन-फ़िक्शन) रचनाओं के लिए येल विश्वविद्यालय का प्रतिष्ठित विंड्हम-कैंपबेल पुरस्कार भी प्राप्त हो चुका है।

पंकज मिश्र

लीप्ज़िग, जर्मनी में 2014 में मिश्र
जन्म 9 फ़रवरी 1969 (1969-02-09) (आयु 55)
झाँसी, उत्तर प्रदेश, भारत
शिक्षा की जगह जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय
इलाहाबाद विश्वविद्यालय
प्रसिद्धि का कारण दि रोमांटिक्स
फ्रॉम दि रुइन्स ऑफ़ एम्पायर
एज ऑफ़ एंगर
पुरस्कार 2000 Art Seidenbaum award for Best First Fiction
2013 Crossword Book Award (nonfiction)
2014 साँचा:Awards
वेबसाइट
pankajmishra.com

झाँसी में जन्में मिश्र की शिक्षा इलाहाबाद विश्वविद्यालय एवं जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय में हुई और वर्तमान में वे अमेरिका में रहते हैं।