मुख्य मेनू खोलें

पवन उर्जा प्रौद्योगिकी केन्द्र, चेन्नई

भारत के चेन्नई में स्थित पवन उर्जा प्रौद्योगिकी केन्द्र (Centre for Wind Energy Technology) भारत सरकार के अपारम्परिक उर्जा स्रोत मंत्रालय के अधीन स्वायत्त अनुसंधान एवं विकास संस्था है। यह संस्थान पवन ऊर्जा के क्षेत्र में अन्य अनुसंधान एवं विकास संस्थानों के सहयोग से पवन टरबाइन (विंड टर्बाइन) की उप-प्रणालियों तथा घटकों के विकास में नवीन उपलब्धियों पर ध्यान देगा।

कार्यकलापसंपादित करें

पवन उर्जा प्रौद्योगिकी केन्द्र के क्रियाकलापों को इन पांच सामान्य क्षेत्रों में वर्गीकृत किया गया है:

  • वर्तमान पवन टरबाइन संस्थापनों के कार्य निष्पादन में सुधार
  • पवन स्रोत मूल्यांकन हेतु अनुसंधान समर्थन
  • कार्मिक शक्ति प्रशिक्षण एवं मानव संसाधन विकास
  • पवन शक्ति उद्योग के लिए प्रौद्योगिकी समर्थन
  • अनुसंधान एवं उन्नत प्रौद्योगिकी विकास

वर्तमान पवन टरबाइन संस्थापनों के कार्य निष्पादन (efficiency) में सुधार लाते हुए उन्नत पवन टरबाइन प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में अनुसंधान करना ही अनुसंधान एवं विकास विभाग के प्रमुख क्रियाकलाप हैं।

अनुसंधान एवं विकास विभाग ने वर्तमान पवन टरबाइन संस्थापनों के क्षेत्र में ध्यान देते हुए पवन खेतों के ग्रिड संबंधित अन्वेषण, अधिकतम ऊर्जा प्राप्ति हेतु ब्लेड के अनुकूल कोण तथा पवन टरबाइनों के गीयर डिब्बों की असफलताओं के विश्लेषण में कार्य करते हैं।

परियोजनाएँसंपादित करें

वर्तमान में निम्नांकित परियोजनाएं चालू हैं:

  • न्यूनतम एवं संतुलित पवन क्षेत्रों के लिए डिज़ाइन पद्धतियां एवं डिज़ाइन उपकरणों का विकास करना तथा युक्तिसंगत बनाना।
  • अनुसंधान & विकास/ प्रायोगिक पवन खेत की संस्थापना
  • छोटे पवन टरबाइनों का परीक्षण
  • ग्रिड के साथ पवन टरबाइनों की अंत:संबद्धता का प्रतिरूपण
  • पवन टरबाइन नेसल के चारों ओर प्रवाहित पवन प्रवाह का प्राचलीकरण
  • नवीनीकरण ऊर्जा उपकरणों का संस्थापन

बाहरी कड़ियाँसंपादित करें