पिण्डारी अथवा पिंडारी हिमनद उत्तराखण्ड में कुमाऊँ हिमालय के नंदा देवी शिखर के पास से बहता है।[कृपया उद्धरण जोड़ें] यह हिमनद पिघलने पर पिण्डारी नदी को जन्म देता है जो अलकनंदा की सहायक नदी है।[कृपया उद्धरण जोड़ें] पिण्डारी नदी और अलकनंदा का संगम गढ़वाल जिले में होता है और कर्णप्रयाग के नाम से जाना जाता है। बाद में अलकनंदा और भागीरथी मिल कर गंगा का निर्माण करतीं हैं।[कृपया उद्धरण जोड़ें]

पिण्डारी हिमनद

पिण्डारी हिमनद ट्रेकिंग के लिये प्रसिद्द है। इसके चारो ओर का ट्रेकिंग रूट लगभग ९० किलोमीटर का है और छह दिनों में पूरा किया जाता है।[1]

सन्दर्भसंपादित करें

  1. "Mountain Biking the Pindari Glacier | Alienadv.com". www.alienadv.com. मूल से 9 मई 2016 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 2016-04-25.