मुख्य मेनू खोलें
पुनाखा जिला (द्ज़ोंग्खग) भूटान

पुनाखा जिला भूटान के 20 जिलों में से एक है।[1] पुनाखा नगर में जिले का मुख्यालय है। द्ज़ोंग्ख भाषा यहां की मुख्य भाषा है जो प्रशासन और आम जनता की बोलचाल की भी भाषा है। थिम्फू जिला, गास जिला, और वांगडुई फोडरंग जिला सीमावर्ती जिले हैं। द्ज़ोंग्ख (Dzongkha) भूटान की राष्ट्रीय भाषा है। वर्ष १९६४ तक पुनाखा भूटान की राजधानी थी।[2]

पुनाखा जिला
पुनाखा
जिला {dzongkhag)
देशFlag of Bhutan.svg भूटान
जिलापुनाखा
जनसंख्या (2005)
 • कुल25,000
पुनाखा द्ज़ोंग
पुनाखा द्ज़ोंग का प्रवेश द्वार

जिले का प्रशासनिक केंद्रसंपादित करें

पंगटंग देचेन फोतरंग द्ज़ोंग (Pungtang Dechen Photrang Dzong) पुनाखा जिले का प्रशासनिक केंद्र है।

संस्कृतिसंपादित करें

पंगटंग देचेन फोतरंग द्ज़ोंग पुनाखा (Pungtang Dechen Photrang Dzong) धार्मिक केंद्र भी है। शीतकाल में केंद्रीय भिक्षु संस्था का यहां मुख्य आवास रहता है। भूटान देश के संस्थापक शबदरुंग नगवांग नामग्याल थे। इनका पार्थिव शरीर इस द्ज़ोंग के एक कक्ष में रखा हुआ है। वर्ष 1680 से यहां दर्शनार्थियों की भीड़ लगी रहती है। नगवांग नामग्याल के समय पुनाखा भूटान की राजधानी थी। पुनाखा द्ज़ोंग भूटान की ऐतिहासिक इमारतों में प्रमुख है। 17 वीं शताब्दी में शबदरुंग नग्वांग नामग्याल ने इस द्ज़ोंग का निर्माण कराया था।

प्रशासनिक विभाजनसंपादित करें

प्रशासन के लिए पुनाखा जिले को निम्न ११ ब्लॉकों में विभक्त कर दिया गया है।

  • बर्प गेओग
  • छुबु गेओग
  • डज़ोमो गेओग
  • गोएनशरी गेओग
  • गुम गेओग
  • कब्जीस गेओग
  • लिंगमुख गेओग
  • शेंग बजिमे गेओग
  • टालो गेओग
  • टेपिस गेओग
  • तोएवंग गेओग

चित्रवीथीसंपादित करें

सन्दर्भसंपादित करें