गणितसंस्थितिविज्ञान में पृष्ट एक द्विविम संस्थितिक दिक् (two-dimensional, topological space) होती है। मानवों के लिये सबसे सरलता से समझने वाले पृष्ठ हमारे त्रिविम दिक् (three-dimensional space) में ठोस वस्तुओं की सीमाएँ होती हैं, यानि किसी भी वस्तु की सबसे बाहरी परत। सतहों के कई आकार हो सकते हैं। मसलन पृथ्वी की सतह का एक आकार है और किसी मेज़ की सतह का अलग आकार होता है। भौतिकी, अभियान्त्रिकी, कंप्यूटर ग्राफिक्स, और अन्य विद्याओं में सतहों का अध्ययन और प्रयोग बहुत महत्वपूर्ण है।[1][2]

कुछ सतहें - बाएँ की तीन अपने ही ऊपर बन्द हैं, दाएँ की तीन की सीमाएँ लाल रंग में दिखाई गई हैं

इन्हें भी देखेंसंपादित करें

सन्दर्भसंपादित करें

  1. Bredon, Glen E. (1993). Topology and Geometry. Springer-Verlag. ISBN 0-387-97926-3.
  2. Massey, William S. (1991). A Basic Course in Algebraic Topology. Springer-Verlag. ISBN 0-387-97430-X.