भारतीय उपमहाद्वीप से प्राप्त सबसे प्राचीन पुरालेख सिन्धु घाटी की सभ्यता की खुदाई से प्राप्त हुए हैं जो अब तक पढ़े नहीं जा सके हैं। उनका समय तीसरी सहस्राब्दी ईसापूर्व है।

सम्राट अशोक का एक धर्मोपदेश जो ब्राह्मी लिपि में है। यह बिहार के लउरिया में स्थित है और लगभग २०० ईसापूर्व में निर्मित है।

सन्दर्भसंपादित करें

इन्हें भी देखेंसंपादित करें

बाहरी कड़ियाँसंपादित करें