प्रेम शक्ति

1994 की शिबू मित्रा की फ़िल्म

प्रेम शक्ति 1994 में बनी हिन्दी भाषा की फिल्म है। इसमें करिश्मा कपूर, गोविंदा और कादर ख़ान मुख्य अभिनेता है। अन्य कलाकारों में शक्ति कपूर, रजा मुराद, पुनीत इस्सर और नितीश भारद्वाज शामिल हैं। फिल्म औसत रही थी।

प्रेम शक्ति
प्रेम शक्ति.jpg
प्रेम शक्ति का पोस्टर
निर्देशक शिबू मित्रा
निर्माता नासिर परकार
लेखक मदन जोशी (संवाद)
अभिनेता गोविन्दा,
करिश्मा कपूर,
नितीश भारद्वाज
संगीतकार राम लक्ष्मण
प्रदर्शन तिथि(याँ) 25 फरवरी, 1994
देश भारत
भाषा हिन्दी

संक्षेपसंपादित करें

गंगवा (गोविंदा) और गौरी (करिश्मा कपूर) प्यार में हैं, लेकिन उन युवा प्रेमियों को शादी करने की अनुमति नहीं मिलती है। एक रात वे भाग जाते हैं और खुद को एक दुष्ट ऋषि (पुनीत इस्सर) की गुफा में पाते हैं। वो नागराज (नितीश भारद्वाज) को एक मणि देने के लिए मजबूर करने की कोशिश कर रहा है। जिससे उसे अमर होने के लिये अमृत बनाने में जरूरत पड़ेगी। यह घटना केवल पूर्णिमा की इस रात को हो सकती है। यह दिन केवल पच्चीस वर्ष में ही आता है। युवा प्रेमी जोड़ा साँप की रक्षा करते हैं और ऋषि की योजना को ध्वस्त करते हैं। क्रोधित ऋषि गौरी को एक पत्थर में बदल देता है और सदमे का सामना करने में असमर्थ, गंगवा मर जाता है। लेकिन जादुई साँप यह घोषणा करता है कि गंगवा का पुनर्जन्म होगा, गौरी के लिए दिल में प्यार के साथ और पच्चीस साल बाद वे एक दूसरे से फिर से मिलेंगे।

25 साल बाद गंगवा का कृष्णा के रूप में फिर से जन्म होता है और अपनी मां के साथ एक गरीब जीवनशैली जीता है। वह चाहती हैं कि वह पिंकी से शादी करे, लेकिन कृष्णा खुद को पहले स्थापित करना चाहते है। उसे एक पुतला निर्माता के साथ नौकरी मिलती है, और वो नागराज की मदद से, गौरी जैसा जीवित पुतला बनाता है। उस का नियोक्ता रोमियो को इस पुतले को बेच देता है, जो केवलचंद द्वारा संचालित एक विभाग की दुकान का कर्मचारी है। कृष्णा इस दुकान में सिर्फ पुतले के पास रहने के लिए रोजगार लेता है। वो पुतला केवल तब ही जीवित होता है जब वह उसके साथ अकेला होता है। वो पुतला खुद को करिश्मा कहता है। कृष्णा को पता नहीं है कि अगली पूर्णिमा पर, उसके प्यारे को फिर से वही बदला लेने वाले तांत्रिक द्वारा पत्थर में बदल दिया जाएगा। उसके नियंत्रण में ना केवल नागराज होगा, बल्कि वह यह भी सुनिश्चित करेगा कि कृष्णा जीवित नहीं रहे।

मुख्य कलाकारसंपादित करें

संगीतसंपादित करें

सभी रामलक्ष्मण द्वारा संगीतबद्ध।

क्र॰शीर्षकगीतकारगायकअवधि
1."कृष्णा तुम मैं करिश्मा हूँ"N/Aलता मंगेशकर, उदित नारायण5:51
2."तुमको देखा है अकसर ख्वाब में"N/Aउदित नारायण, लता मंगेशकर6:05
3."ओ रामा हो" (महिला)रविन्दर रावललता मंगेशकर5:45
4."आजा रे ओ मेरे सनम"देव कोहलीउदित नारायण6:23
5."आ बैठ मेरे घोड़े पर" (II)रविन्दर रावलउदित नारायण, साधना सरगम5:24
6."ओ रामा हो" (पुरुष)रविन्दर रावलउदित नारायण5:46
7."दिल करता है दूर चले कहीं"देव कोहलीलता मंगेशकर, उदित नारायण 

बाहरी कड़ियाँसंपादित करें