फोनपे एक डिजिटल पेमेंट सेवा प्रदान करने वाली एक कंपनी है, जिसका मुख्यालय बैंगलोर, भारत में स्थित है।[6] इसकी स्थापना दिसम्बर 2015[3] में समीर निगम, राहुल चारी और बुर्जिन इंजीनियर ने की थी।[7] यह एक एप है, जो अगस्त 2016 से यूपीआई का इस्तेमाल कर पैसे के आदान प्रदान की सुविधा प्रदान करता है।[8]

PhonePe Private Limited
कंपनी का प्रकारनिजी
प्रकार
वित्तीय सेवा
उपलब्ध भाषाअंग्रेजी
हिन्दी
तेलुगू
तमिल
कन्नड
मलयालम
मराठी
बंगाली
गुजराती
ओडिया
पंजाबी [1]
स्थापित2015; 6 वर्ष पहले (2015)
मुख्यालयबैंगलोर, भारत[2]
Area servedभारत
संस्थापक
  • समीर निगम
  • (संस्थापक और सीईओ)[3]
  • राहुल चारी
  • (सह-संस्थापक और सीटीओ)[3]
उद्योगइंटरनेट
ई-कॉमर्स
सेवा
  • पेमेंट प्रणाली
  • डिजिटल वालेट
  • मोबाइल पेमेंट
  • ऑनलाइन खरीददारी
आय 42.79 करोड़ (US$6.25 मिलियन) (FY 2018-19)[4]
मूलफ्लिपकार्ट
सहायक कंपनियाँSolvy Tech Solutions Pvt Ltd
जालस्थलwww.phonepe.com
पंजीकरणअनिवार्य
सदस्यों की संख्या21.80 करोड़[5]
वर्तमान स्थितिसक्रिय

यह एप 11 भारतीय भाषाओं में उपलब्ध है।[9] इस एप का इस्तेमाल कर लोग रकम भेज या प्राप्त कर सकते हैं। इसके अलावा मोबाइल रीचार्ज, डीटीएच, डाटा कार्ड एवं अन्य बिल भी भर सकते हैं। इसके अलावा यह कर बचाने वाले फ़ंड, बीमा, म्यूचुअल फ़ंड और सोना खरीदने की सुविधा भी देता है।[10]

इतिहास

एफ़एक्समार्ट को यह कार्य करने हेतु 26 अगस्त 2014 को लाइसेन्स प्राप्त हुआ था।[11] इसके बाद दिसम्बर 2015 में फोनपे अस्तित्व में आया। अप्रैल 2016 में इसे फ्लिपकार्ट ने खरीद लिया।[12][13] फ्लिपकार्ट के खरीदने के बाद एफ़एक्समार्ट का लाइसेंस फोनपे को स्थानांतरित हो गया और इसका नाम बदल कर फोनपे वैलट रख दिया गया। इसके बाद फोनपे के संस्थापक समीर निगम को कंपनी के सीईओ के रूप में नियुक्त किया गया।[14]

सन्दर्भ

  1. "PhonePe Summary". CNET. 2018-05-12. अभिगमन तिथि 2019-09-29.
  2. "Contact Us". PhonePe, Pvt Ltd. 2015-03-15. अभिगमन तिथि 2019-09-29.
  3. "Tech in Asia - Connecting Asia's startup ecosystem". Tech in Asia (अंग्रेज़ी में). अभिगमन तिथि 2017-02-20.
  4. "Revenue Rs 43 cr, loss Rs 791 cr; PhonePe burning Rs 18 for every rupee earned in market share war with Paytm". Manoj Sinha. Business Today. 2018-10-30. अभिगमन तिथि 2019-09-30.
  5. "Phone Pe crosses 100 million users". Peerzada Arbar. The Hindu. 2018-06-02. अभिगमन तिथि 2018-06-02.
  6. Singh, Abhinav (10 March 2020). "Why digital payment firms should not rely on single bank". The Week (अंग्रेज़ी में).
  7. Chanchani, Madhav (4 April 2016). "Flipkart acquires former executive's startup PhonePe for payments push". The Economic Times.
  8. Sen, Anirban (January 10, 2017). "Flipkart's PhonePe crosses 10 million downloads on Google Play Store". Mint.
  9. "5 digital payment platforms you can use during Coronavirus Lockdown". India Today (अंग्रेज़ी में). 20 April 2020. अभिगमन तिथि 2020-07-19.
  10. Dasgupta, Brinda (March 23, 2018). "Payments platform PhonePe looks to double its team". The Times Of India.
  11. "Flipkart : India's most preferred online shopping store". The Indian Wire. अभिगमन तिथि 14 February 2020.
  12. Reporter, B. S. (2016-04-02). "Flipkart buys mobile payments company PhonePe for an undisclosed sum". Business Standard. अभिगमन तिथि 2017-02-20.
  13. "Flipkart acquires former executive's startup PhonePe for payments push". The Economic Times. अभिगमन तिथि 2017-02-20.
  14. "Sameer Nigam: Executive Profile & Biography - Bloomberg". Bloomberg L.P. अभिगमन तिथि 2018-05-12.

बाहरी कड़ियाँ