बड़े अच्छे लगते हैं सोनी पर आने वाला एक धारावाहिक था। जो 30 मई 2011 से 10 जुलाई 2014 तक चला।[3][4]

बड़े अच्छे लगते हैं
चित्र:Bade Achhe Lagte Hain.jpeg
अन्य नाम बड़े अच्छे लगते हैं - ये धरती ये नदियां ये रैना और तुम
शैली नाटक
रोमांस
सर्जक एकता कपूर
लेखक कहानी
दोरिस दे
सोनाली जाफर
जयेश पाटिल
अनिल नागपाल
संवाद
इशिता मौत्रा
दीप्ति रावल
शीरीष लटकर
प्रीति
निर्देशक पार्थो मित्रा
संगीता राव
अनिल कुमार
राकेश मल्होत्रा
राजा मुखर्जी
मुज़मिल देशाई
रवीन्द्र गौतम
साहिल शर्मा
मोहित हुसैन
जलध शर्मा
विजय सैनी
सृजनात्मक निर्देशक उदयान प्रदीप शुक्ला
तनुश्री देशगुप्ता
प्रशांत भट्ट
भारवी शाह
मोहम्मद सुलेमान कादरी
मीतू
सितारे
'थीम' संगीत निर्देशक निर्देशक
आर डी बर्मन
संगीत
ललित सेन
गीत के बोल
नवाब आरजू
गायक
श्रेया घोषाल
शुरुआत 'थीम' श्रेया घोषाल के द्वारा "बड़े अच्छे लगते हैं"
संगीत निर्देशक बाहरी संगीत
अभिषेक सिंह
मिन्टू झा
निर्माण का देश भारत
मूल भाषा(एं) हिन्दी
प्रकरणों की संख्या कुल 644
निर्माण
कार्यकारी निर्माता
  • प्रशांत शुक्ला
  • प्रदीप हिंदुजा
  • विजय कुमार
निर्माता
संपादक
  • विकास शर्मा
  • विशाल शर्मा
  • संदीप भट्ट
  • प्रेम राज
  • विश्वबन्धु
स्थल
छायांकन
  • महेश तलाकंद
  • संजय मेमने
  • अनिल कतके
  • शेखर नागरकर
कैमरा सेटअप बहु कैमरा
प्रसारण अवधि लगभग 23 मिनट
निर्माण कंपनी बालाजी टेलीफिल्म्स
प्रसारण
मूल चैनल सोनी टीवी
मूल प्रसारण 30 मई 2011 – 10 जुलाई 2014
स्तर प्रसारण बन्द
बाह्य सूत्र
आधिकारिक जालस्थल
निर्माण जालस्थल

कहानीसंपादित करें

यह कहानी एक बहुत ही संपन्न व्यापारी राम अमरनाथ कपूर (राम कपूर) और एक माध्यम वर्ग में रहने वाली प्रिय (साक्षी तंवर) की है। दोनों की ही उम्र अधिक होने के बाद भी वह घर की जिम्मेदारियों के कारण शादी नहीं करते है। लेकिन कहानी तब शुरू होती है जब नताशा (सुमोना चक्रवर्ती) और कार्तिक (मोहित मल्होत्रा) एक दूसरे से प्यार करने लगते है। लेकिन कार्तिक अपनी बड़ी बहन प्रिया से पहले शादी नहीं करना चाहता और राम अपने बहन नताशा के शादी के लिए स्वयं प्रिया से शादी करने का निर्णय लेता है। लेकिन वह दोनों शादी के बाद एक दूसरे से कई समय के पश्चात जब एक दूसरे को अच्छे से जान जाते है, उसके पश्चात वह धीरे धीरे एक दूसरे से प्यार करने लगते है।

कलाकारसंपादित करें

निर्माणसंपादित करें

इसका निर्माण केवल 150 प्रकरण हेतु किया गया था। लेकिन इसकी लोकप्रियता के बढ़ने के कारण इसे 644 तक बनाया गया। यह धारावाहिक 3 वर्ष, 2 महीने और 41 दिन तक चला।

सन्दर्भसंपादित करें

  1. ""बड़े अच्छे लगते हैं" टीम दुबई को प्रस्थान". द टाइम्स ऑफ इंडिया. 6 जुलाई 2012. मूल से 3 जनवरी 2013 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 23 फरवरी 2015.
  2. ""बड़े अच्छे लगते हैं" की आस्ट्रेलियाई यात्रा". 22 नवम्बर 2011. मूल से 27 दिसंबर 2011 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 23 फरवरी 2015.
  3. ""बड़े अच्छे लगते हैं" आज कहेगा हमें अलविदा". abplive.in. एबीपी न्यूज़. 10 जुलाई 2014. मूल से 13 जुलाई 2014 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 10 जुलाई 2014.
  4. "प्रसिद्ध हिन्दी गीत अब बन गया एक धारावाहिक का शीर्षक गीत". indiatoday.intoday.in. इंडिया टुडे. 04 जनवरी 2012. मूल से 21 अक्तूबर 2014 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 10 अक्तूबर 2014. |date= में तिथि प्राचल का मान जाँचें (मदद)

बाहरी कड़ियाँसंपादित करें