मुख्य मेनू खोलें

बलमा

1993 की लॉरेंस डिसूज़ा की फ़िल्म

बलमा 1993 की हिन्दी फ़िल्म है। इसका निर्देशन लॉरेंस डिसूज़ा ने किया है और मुख्य भूमिकाओं में अविनाश वधावन, आयशा जुल्का, सईद जाफ़री और अंजना मुमताज़ हैं। फिल्म तो कोई खास नहीं चली लेकिन इसका संगीत लोकप्रिय रहा है।

बलमा
Balmafilmnew.jpg
बलमा का पोस्टर
निर्देशक लॉरेंस डिसूज़ा
निर्माता सुरेश ग्रोवर
संगीतकार नदीम-श्रवण
प्रदर्शन तिथि(याँ) 1993
देश भारत
भाषा हिन्दी

संक्षेपसंपादित करें

विशाल एक युवा कॉलेज से स्नातक है जो अपनी चिकित्सकीय रूप से अस्वस्थ मां के साथ एक गरीब जीवन शैली जीता है। नौकरी तलाशने के उसके सभी प्रयास अनुशंसा की कमी के कारण सफल नहीं रहे हैं। फिर एक दिन दैनिक समाचार पत्र को पढ़ते समय उसने मधु नाम की एक अमीर लड़की के लिए आवश्यक पति के लिए एक विज्ञापन नोटिस किया। एक सिफारिश को लेकर सही मौका ढूंढते हुए वह तुरंत आवेदन करता है। वो उम्मीदवारों में से एक है जिसे शॉर्टलिस्ट किया जाता है और साक्षात्कार के लिए चुना जाता है। बाद में फिर विवाह होता है। यह विवाह है जो विशाल और मधु के जीवन को हमेशा के लिए बदल देगा।

मुख्य कलाकारसंपादित करें

संगीतसंपादित करें

सभी गीत समीर द्वारा लिखित; सारा संगीत नदीम-श्रवण द्वारा रचित।

क्र॰शीर्षकगायकअवधि
1."अगर जिंदगी हो तो तेरे संग हो"कुमार सानु, आशा भोंसले7:55
2."बांसुरिया अब ये ही पुकारे"आशा भोंसले, कुमार सानु7:35
3."मेंहदी से लिख गोरी हाथ पे मेरे"आशा भोंसले5:35
4."मेरे ख्याल से तुम"नितिन मुकेश, आशा भोंसले6:45
5."मेरी सहेलियों मेरे साथ आओ"अलका याज्ञनिक5:26
6."ये मौसाम भी गया"कुमार सानु, अलका यागनिक6:48

बाहरी कड़ियाँसंपादित करें