बाय यांग (सरलीकृत चीनी: 白杨; ४ मार्च १९२० – १८ सितम्बर १९९६) चीनी फ़िल्म और नाटक अभिनेत्री थीं। वो १९३० के दशक से १९५० के दशक तक देश की लोकप्रिय फ़िल्म अभिनेत्रियों में से एक थीं।[1] वो किन यी, शु शिऊ वेन और झांगरुइफ़ांग के साथ "चार महान नाटक अभिनेत्रियों" में से एक थीं। उनकी प्रसिद्ध फ़िल्मों में क्रॉसरोड्स (१९३७), द स्प्रिंग रिवर फ्लोज ईस्ट (१९४७), एट थाउजेंड ली ऑफ़ क्लाउड एंड मून (१९४७) और न्यूयॉर्कज़ सैक्रिफाइस (१९५५) शामिल हैं।

बाय यांग
Bai Yang.jpg
जन्म यांग चेंगफांग
4 मार्च 1920
बीजिंग, चीन
मृत्यु 18 सितम्बर 1996(1996-09-18) (उम्र 76)
शंघाई, चीन
स्मारक समाधि बिंहाई गुयान कब्रिस्तान
व्यवसाय अभिनेत्री
जीवनसाथी जियांग जुंचावो
बच्चे 2
संबंधी यान्ग मो (बहन)
अंतिम स्थान बिंहाई गुयान कब्रिस्तान

पूर्व जीवनसंपादित करें

बाय यांग का जन्म ४ मार्च १९२० को बीजिंग के एक समृद्ध परिवार में हुआ।[1] उनका मूल नाम यांग चेंगफांग था तथा उपन्यासकार यांग मो उनकी बड़ी बहन थीं।[2] उनके माता पिता का उसी समय देहान्त हो गया जब वो ११ वर्ष की थीं। उन्होंने ११ वर्ष की आयु में ही होउ यावो के मूक फ़िल्म के सैड सॉन्ग फ्रॉम एन ओल्ड पैलेस (गुगोंग शियाउन) में अभिनय किया जिसका निर्माण लियानहुवा फ़िल्म कंपनी ने किया था।[1] उसके बाद उन्होंने कई वर्षों तक नाटक अभिनेत्री के रूप में काम किया। उन्होंने तियान हान और हॉन्ग शेन के नाटकों सहित विदेशी नाटकों जैसे ऑस्कर वाइल्ड और यूजीन ओ'नील में भी काम किया।[2]

शुरूआती जीवन और चीन-जापान युद्धसंपादित करें

वर्ष १९३६ में, बाय यांग शंघाई में मिंगशिंग फ़िल्म कंपनी में शामिल हुईं। उन्हें शेन शिलिंग की १९३७ की फ़िल्म क्रॉसरोड्स में "चीनी फ़िल्मों के राजकुमार" झावो डैन के साथ मुख्य अभिनय भूमिका मिली। फ़िल्म को बड़ी सफलता मिली और यांग के अभिनय को समालोचकों से प्रशंसा मिली तथा उन्हें अत्यधिक लोकप्रियता भी मिली और मीडिया ने उनकी तुलना ग्रेट गार्बो से की।[2][1][3]

कुछ ही समय बाद द्वितीय चीन-जापान युद्ध शुरु हो गया और शंघाई क्षेत्र में चीनी सिनेमा का भारी नुकसान हुआ। शंघाई पर जापानी कब्जे के बाद वे चोंग्किंग चलीं गयी जो युद्ध के समय चीन की राजधानी थी। युद्ध के आठ वर्षों के समय में उन्होंने केवल तीन फ़िल्मों में काम किया जिसमें पूर्णतः देशभक्ति फ़िल्में चिल्डरन ऑफ़ चाइना (निर्देशक: शेन शिलिंग) और यूथफुल चाइना (निर्देशक सूँ यू) शामिल हैं।[2][3] इसके अतिरिक्त, उन्होंने ४० से अधिक नाटकों में भी अभिनय किया जिनमें से अधिकतर देशभक्तिपूर्ण नाटक थे।[2] वो किन यी, शु शिऊ वेन और झांगरुइफ़ांग के साथ "चार महान नाटक अभिनेत्रियों" में गिनी जाती थीं।[2]

द्वितीय-विश्व युद्ध के बादसंपादित करें

 
बाय यांग

द्वितीय विश्व युद्ध के बाद बाय यांग पुनः शंघाई आ गयी और अपनी दो सबसे प्रसिद्ध फ़िल्मों एट थाउजेंड ली ऑफ़ क्लाउड एंड मून (शी डोंगशन के निर्देशन में) तथा द स्प्रिंग रीवर फ्लोज ईस्ट (काई चुशेंग और झेंग जुनली द्वारा निर्देशित) में काम किया। ये दोनों ही फ़िल्में द्वितीय विश्व युद्ध की क्षति के बारे में हैं। बाद में उनकी अपने देशभक्त पति द्वारा परित्यक्त एक कारखाने में काम करने वाली महिला जो कारखाने की मालिक बनने का अभिनय उनके जीवन में मील का पत्थर साबित हुआ। फ़िल्म ने चीन के सभी फ़िल्मी कीर्तिमान तोड़कर अपने नाम कर लिये।[2] उन्होंने शी डोंगशन की द सोर्रोस ऑफ़ ए ब्राइड (१९४८) और वु ज़ुगुवांग की टीयर्स ऑफ़ माउंटेन्स एंड रिवर्स (१९४९) में भी अभिनय किया।[3]

 
द स्प्रिंग रीवर फ्लोज ईस्ट (१९४७), बाय यांग का सबसे प्रसिद्ध अभिनय

उनके वामपंथी सिनेमा में योगदान के लिए बाय यांग को तियानमेन गेट पर चीनी जनवादी गणराज्य द्वारा १ अक्टूबर १९४९ को आमंत्रित किया गया।[3] उसके बाद उनकी नियुक्ति शंघाई फ़िल्म स्टूडियो में हुई और वो चीनी फिल्मवर्कर्स एसोशियेशन एसोसिएशन की उपाध्यक्ष बनीं।[3] उन्होंने कुछ और फ़िल्मों में भी अभिनय किया जिनमें सान्ग हु की १९५५ की फ़िल्म न्यूयॉर्कज सैक्रिफाइस महत्त्वपूर्ण है। यह फ़िल्म लु शुन की लघु कथा पर आधारित है। यह फ़िल्म काफी सफल रही और चेकोस्लोवाकिया में कार्लोवी वेरी इंटरनेशनल फ़िल्म फेस्टीवल का १९५७ का विशेष ईनाम जीता।[3] वर्ष १९५७ में, दो बड़े नामी समाचार पत्रों द्वारा किये गये सर्वेक्षण में उन्हें चीन की सबसे लोकप्रिय अभिनेत्री के रूप में पाया।[1]

बाय यांग के फ़िल्मी जीवन का अन्त सांस्कृतिक क्रांति के उथल-पुथल वाला रहा। इसके दौरान उनपर काफी अत्याचार हुआ और पांच वर्ष की कारावास की सजा हुई।[3] यद्यपि उनके अन्य साथियों की तरह उनका शारीरिक शोषण नहीं हुआ।[2] १९७० के दशक में उनके पुनर्वास के दौरान उन्होंने १९८९ के टेलीविजन नाटक में सूंग चिंग लिंग का अभिनय किया।[2] इसी वर्ष वो चीनी जनवादी गणराज्य के प्रथम ४० वर्षों १० सबसे लोकप्रिय अभिनेत्रियों में से एक चुनी गयीं।[4] वर्ष १९९० में,बाय यांग के ६०–वर्ष के फ़िल्मी जीवन को जश्न के रूप में प्रमुख समारोह किया गया।[2]

व्यक्तिगतसंपादित करें

बाय यांग का विवाह फ़िल्म निर्देशक जियांग जुंचावो के साथ हुआ जिससे उनके दो बच्चे हुये।[2] उनका १८ सितम्बर १९९६ में ७६ वर्ष की आयु में निधन हो गया। उन्हें शंघाई के बिंहाई गुयुयान कब्रिस्तान में दफनाया गया।[4]

सन्दर्भसंपादित करें

  1. शियो, झिवेई; झान्ग, यिंग्जिन (२००२). Encyclopedia of Chinese Film [चीनी फ़िल्म का विश्वकोश] (अंग्रेज़ी में). रूटलेज. पृ॰ ९०. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 978-1-134-74554-8. मूल से 10 अक्तूबर 2019 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 11 अप्रैल 2016.
  2. ली, लिली शियो होन्ग; स्टेफानोव्स्का, ए॰डी॰ (२००३). Biographical Dictionary of Chinese Women: The Twentieth Century, 1912–2000 [चीनी महिलाओं का जैविक शब्दकोश: बीसवीं सदी, १९१२-२०००] (अंग्रेज़ी में). एम॰ई॰ शार्पे. पपृ॰ १४–१६. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 978-0-7656-0798-0. मूल से 24 दिसंबर 2016 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 11 अप्रैल 2016.
  3. ये, तान; झु, युन (2012). Historical Dictionary of Chinese Cinema [चीनी सिनेमा का एतिहासिक शब्दकोश] (अंग्रेज़ी में). रोमैन & लिटलफ़ील्ड. पपृ॰ १७–१८. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 978-0-8108-6779-6.
  4. हुआंग रेन (2010). zh:中外電影永遠的巨星 [सदाबहार चीनी और विदेशी फ़िल्मी सितारे] (चीनी में). शियवायी पब्लिशिंग. पपृ॰ 3–29. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 978-986-221-458-9.

बाहरी कड़ियाँसंपादित करें