बागनाथ मंदिर

शंकर भगवान का मंदिर्

बागनाथ मंदिर, भारत के उत्तराखण्ड के बागेश्वर जिले के बागेश्वर में स्थित एक प्राचीन शिव मंदिर है। यह उत्तर भारत में एक मात्र प्राचीन शिव मंदिर है जो कि दक्षिण मुखी है जिसमें शिव शक्ति की जल लहरी पूरब दिशा को है । यहाँ शिव पार्वती एक साथ स्वयंभू रूप में जल लहरी के मध्य विद्यमान हैं । यह बागेश्वर जिले का सबसे प्रसिद्ध मंदिर है और बागेश्वर जिले का नाम भी इसी मंदिर के नाम पर पड़ा है। यह सरयू तथा गोमती नदियों के संगम पर बागेश्वर नगर में स्थित है.[1][2] इस मंदिर की नक्काशी अत्यन्त प्रभाशाली है।

बागनाथ मंदिर
Bagnath Temple.jpg
बागनाथ मंदिर (बागेश्वर)
धर्म संबंधी जानकारी
सम्बद्धताहिंदू धर्म
अवस्थिति जानकारी
अवस्थितिबागेश्वर
ज़िलाबागेश्वर
राज्यउत्तराखण्ड
देशभारत
वास्तु विवरण
प्रकारनागर शैली
निर्मातालक्ष्मी चंद
अवस्थिति ऊँचाई1,004 मी॰ (3,294 फीट)

भूगोलसंपादित करें

यह मंदिर भारतीय राज्य उत्तराखंण्ड के वागेश्वर जिले में सरयू और गोमती नदियों स्थित है और इसकी समुद्र तल से उचाई 1004 मीटर है।

इतिहाससंपादित करें

हिन्दु पौराणिक कथा के अनुसार बाबा मार्कडेय यहाँ शिव जी पूजा किया करते थे जिससे शिव जी एक बाघ के रूप में ऋषी मार्कडेय को आशीर्वाद देने आये थे। लेकिन कुछ सूत्रो के अनुसार भवन चन्द शासक लक्ष्मी चन्द ने 1602 ईस्वी में इसका निर्माण कराया था।

सन्दर्भसंपादित करें

  1. Singh, Kautilya; Chakrabarty, Arpita (21 September 2016). "Water police post opens in Bageshwar to tackle drowning incidents, crimes". Almora: The Times of India. TNN. मूल से 23 सितंबर 2016 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 15 October 2016.
  2. "Bagnath temple". travelomy.com. मूल से 3 दिसंबर 2017 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 7 जनवरी 2018.

बागेश्वर का बागनाथ मंदिर बागेश्वर ज़िले का सबसे प्रसिद्ध शिव मंदिर है. जो कि सरयू और गोमती नदी के संगम पर स्थित है.बागेश्वर का यह शिव मंदिर उत्तराखंड के प्रसिद्ध शिव मंदिरों में से एक माना जाता है.