बाग़ान

लंबे समय तक कृत्रिम रूप से स्थापित जंगल, खेत या संपत्ति, जहां फसलों बिक्री के लिए उगाई जाती हैं

बाग़ान (plantation) ऐसा भूक्षेत्र या जलक्षेत्र होता है जहाँ व्यापारिक ध्येय से एक ही प्रकार के पौधे की कृषि करी जाए। विश्व में कपास, चाय, फल, कॉफ़ी, ईख, रबड़, इत्यादि के बाग़ान मिलते हैं। अक्सर यह किसी स्थान की प्राकृतिक परिस्थितियों का लाभ उठाने के लिए स्थापित करे जाते हैं। मसलन भूमि, वर्षा और तापमान के अनुकूल होने के कारण भारत के असम राज्य में चाय, संयुक्त राज्य अमेरिका के कैलीफ़ोर्निया राज्य में बादाम और फ़िलिपीन्ज़ के बिकोल क्षेत्र में नारियल के बाग़ान लगे हुए हैं।[1][2] कुछ स्थानों पर लकड़ी के लिए काटे जाने वाले वृक्षों के बाग़ान भी लगाए जाते हैं, मसलन भारत में इस प्रयोग के लिए शीशम के कई बाग़ान हैं।[3]

संयुक्त राज्य अमेरिका में एक चीड़ बाग़ान। वृक्षों के बाग़ान प्राकृतिक वनों से अलग दिखते हैं क्योंकि उनमें पेड़ सीधी कतारों में लगाए जाते हैं।

इन्हें भी देखेंसंपादित करें

सन्दर्भसंपादित करें

  1. Ronald E. Dolan, ed. Philippines: A Country Study Archived 30 मार्च 2014 at the वेबैक मशीन.. Washington: GPO for the Library of Congress, 1991.
  2. "Stop Vilifying Almonds Archived 9 अप्रैल 2017 at the वेबैक मशीन.," Eric Holthaus, 17 April 2015, Slate Magazine
  3. "Developing better seeds for shisham plantation Archived 29 अक्टूबर 2016 at the वेबैक मशीन.," Kulwinder Sandhu, 18 December 2000, Tribune India (Newspaper)