बारकूट

बारकोड कंपनी तथा कंपनी के प्रोडक्ट का पहचान चिन्न होता है। उस सिर्फ स्कैनर के जरिए पड़ा जा सकता है। उसके उपयोग से कंपनी के नकली उत्पादों को रोक लगाने के लिए होता है।

बारकूट (या छड़कूट, या बारकोड / barcode) किसी आंकड़े या सूचना को मशीन से पढ़े जाने योग्य रूप में निरुपित करने का एक प्रभावी तरीका है। अपने मूल रूप में बारकूट के लिये समान्तर रेखाओं एवं उनके बीच के अन्तराल का उपयोग किया जाता था। इस विधि को एकबिमिय (1 dimensional barcodes) बारकूट कह सकते हैं। बारकूटों को प्रकाशीय पाठकों (optical scanners) की सहायता से पढ़ा जा सकता है जिन्हें बारकूट पाठक (barcode readers) कहते हैं।

एक बारकूट संकेत

बारकूट अब अन्य पैटर्नों में भी बनाये जाते हैं जिनमें वर्गों, बिन्दुओं, षटभुजों आदि का एक छबि के अन्दर प्रयोग किया जाता है। इसे द्विबिमीय बारकूट (2 dimensional barcodes) कह सकते हैं।

उपयोगसंपादित करें

  • बारकूटों का सर्वप्रथम उपयोग रेलरोड कारों के नामांकन के लिये किया गया।
  • इसके बाद सुपरमार्केटों के जाँचचौकियों पर इनका उपयोग किया गया।
  • आजकल ये स्वचालित पहचान-पत्र के रूप में सर्वत्र प्रयोग किये जा रहे हैं।
  1. अनुप्रेषित [[

यादृच्छिक लेख योगदान प्रयोगपृष्ठ अनुवाद हेतु लेख आयात अनुरोध विशेषाधिकार निवेदन दान

लक्ष्य पृष्ठ नामसंपादित करें

]]

बाहरी कड़ियाँसंपादित करें