बाराबंकी भारत के उत्तर प्रदेश राज्य का एक प्रमुख शहर एवं जिला मुख्यालय है। यह लखनऊ केंद्र से लगभग 30 किलो मीटर की दुरी पर स्थित है। वर्तमान में इसकी दूरी मात्र 15 किलोमीटर है यह लखनऊ के सबसे निकटवर्ती है इसीलिए यहां की अधिकतर सेवाएं लखनऊ से ही संचालित होती है इसका काफी क्षेत्र लखनऊ विकास प्राधिकरण के अंतर्गत आता है। जनपद की नवाबगंज एवं फतेहपुर तहसील की सीमाएं लखनऊ से जुड़ी हैं। भौगोलिक दृष्टिकोण से दक्षिण में लखनऊ, पश्चिम में सीतापुर, उत्तर में बहराइच,पूर्व में गोंडा,फैज़ाबाद,सुल्तानपुर,रायबरेली स्थित है।b

बाराबंकी
—  नगर  —
समय मंडल: आईएसटी (यूटीसी+५:३०)
देश Flag of India.svg भारत
राज्य उत्तर प्रदेश
ज़िला बाराबंकी
जनसंख्या 205762[1] (2011 के अनुसार )
साक्षरता
• पुरुष
• महिला
62.75%
• 66.59%
• 58.46%
आधिकारिक भाषा(एँ) हिन्दी,उर्दू
आधिकारिक जालस्थल: barabanki.nic.in/

निर्देशांक: 26°55′37.80″N 81°11′29.22″E / 26.9271667°N 81.1914500°E / 26.9271667; 81.1914500

पर्यटन स्थलसंपादित करें

बाराबंकी में कुछ महत्वपूर्ण स्थान है, बाराबंकी में महादेवा पर्यटन स्थल व धार्मिक स्थल है जहां पर महाभारत कालीन प्राचीन मंदिर है बाराबंकी के मरकामऊ में पूर्णेश्वर महादेव का मंदिर है किन्तूर में कुन्तेश्वर मंदिर महाभारत काल से प्रसिद्ध है वही किन्तूर से आगे बरौलिया में पारिजात वृक्ष महाभारत कालीन भारत का एकमात्र वृक्ष है जो कि भारत में सबसे अधिक लोकप्रिय व प्रसिद्ध है, मोहम्मदपुर खाला में वनखण्डेश्वर,चंदुरा में नर्वदेश्वर,रायपुर में प्राचीन शिव मंदिर स्थिति हैं। वहीं गुरसेल में देवी मंदिर, मौनी दास का शक्ति स्थल,कोटवाधाम, फतेहपुर का महादेव तालाब आदि प्रसिद्ध धार्मिक स्थल हैं।

आवागमनसंपादित करें

रेलमार्ग
 
बाराबंकी जं रेलवे स्टेशन
सड़क मार्ग
 
बाराबंकी बस स्टाप

इन्हें भी देखेंसंपादित करें

सन्दर्भसंपादित करें

बाहरी कड़ियाँसंपादित करें

टिकैतनगर

यूँ तो बाराबंकी जिले में कई नगरपंचायत हैं किन्तु उनमें नगर पंचायत टिकैतनगर का अपना ही महत्व है नगरपंचायत टिकैतनगर बाराबंकी जिला मुख्यालय से लगभग ४५ किलोमीटर की दूरी पर स्थित है बाराबंकी के पडोसी जिला अयोध्या , गोंडा, बहराइच एवं लखनऊ की दूरी टिकैतनगर से लगभग ८५ किलोमीटर है टिकैतनगर से ६ किलोमीटर की दूरी पर बाबा जगजीवन साहब की जन्मभूमि कोटवा धाम व् उससे २ किलोमीटर आगे महाभारत काल से सम्बंधित पौराणिक वृक्ष पारिजात स्थित है उत्तर दिशा में लगभग ३ किलोमीटर की दूरी में तराई क्षेत्र है जंहा घाघरा नदी बहती है टिकैतनगर में जैन समुदाय की साध्वी ज्ञान मती माता जी का जन्म होने से इसका महत्व जैन समुदाय में एक तीर्थक्षेत्र के रूप में है बाराबंकी जिले में टाउन एरिया टिकैतनगर धार्मिक, व्यापारिक व् राजनैतिक रूप से अपना अलग ही महत्व रखता है लोकसभा क्षेत्र अयोध्या व् विधानसभा क्षेत्र दरियाबाद के अंतर्गत स्थित यह नगरपंचायत व्यापारिक रूप से जिले में नंबर १ है यंहा पर कई राइस मिलें , कोल्डस्टोर , अगरबत्ती फैक्ट्री , व् एक सुद्रण बाजार स्थित है जो क्षेत्र के लोगों के लिए व्यापार व् रोजगार के अवसर प्रदान करते हैं !