बिलाल इब्न रबाह

मुहम्मद के साथी और पहले इस्लामी मुअज्जिन

बिलाल इब्न रबाह (c. 580-640) इस्लामी पैगंबर मुहम्मद के सबसे भरोसेमंद और वफादार साहबा में से एक थे। वह मक्का में पैदा हुए थे। माना जाता है कि वह इतिहास के पहले मुअज्जिन थे, जिन्हें मुहम्मद ने खुद चुना था। [1] [2] [3] वह एक पूर्व गुलाम थे। 640 में उनकी मृत्यु हो गई।

बिलाल इब्न रबाह का जन्म मक्का के हिजाज़ में वर्ष 580 में हुआ था। [4] उनके पिता रबाह बनू जुमा कबीले के एक अरब गुलाम थे। उनकी मां हमामा कथित तौर पर एबिसिनिया [5] की पूर्व शहज़ादी थीं जिन्हें हाथी के वर्ष की घटना के बाद पकड़ लिया गया था और गुलाम बना लिया गया था। गुलामी में पैदा होने के कारण बिलाल के पास अपने मालिक उमय्याह इब्न खलफ के लिए काम करने के अलावा और कोई विकल्प नहीं था। कड़ी मेहनत के कारण बिलाल एक अच्छे गुलाम माने जाने लगे और उन्हें अरब की मूर्तियों की चाबियां सौंपी गईं, लेकिन अरब के नस्लवाद और सामाजिक-राजनीतिक क़ानूनों के कारण वह ऊँचा स्थान हासिल न कर सके। [4]

बिलाल की शक्लसंपादित करें

अपनी पुस्तक बिलाल इब्न रबाह में, मुहम्मद अब्दुल-रऊफ लिखते हैं कि बिलाल "एक सुंदर और प्रभावशाली कद का थे, रंग गहरा भुरा था, आंखें चमकदार, अच्छी नाक और चमकदार त्वचा थी। उनकी आवाज एक गहरी, मधुर और गुंजयमान थी। उनकी दाढ़ी दोनों गालों पर पतली थी। वह, ज्ञान, गरिमा और आत्म सम्मान की भावना से संपन्न थे।" [6] इसी तरह, अपनी पुस्तक द लाइफ ऑफ मुहम्मद में, विलियम मुइर कहते हैं कि बिलाल "लंबे, काले, अफ्रीकी विशेषता और घने बालों बाले थे।" [7] मुइर यह भी कहते हैं कि कुरैशी के कुलीन सदस्यों ने बिलाल को तुच्छ जान कर उन्हें "इब्न सौदा" (काली महिला का पुत्र) कहते थे। [7]

इस्लाम क़बुल करनासंपादित करें

जब मुहम्मद ने अपनी रिसालत की घोषणा की और इस्लाम के संदेश का प्रचार करना शुरू किया तो बिलाल ने मूर्ति पूजा को त्याग कर सबसे पहले इस्लाम लाने वालों में से एक बन गये। [8]

बिलाल का उत्पीड़नसंपादित करें

 
इस्लाम लाने के बाद बिलाल इब्न रबाह को कोड़े मारे गए।

बिलाल की मुक्तिसंपादित करें

मदीना में बिलालसंपादित करें

अज़ानसंपादित करें

ख़ज़ानासंपादित करें

मुहम्मद के युग के दौरान सैन्य अभियानसंपादित करें

धर्मपरायणतासंपादित करें

मुहम्मद के बादसंपादित करें

सूफीवादसंपादित करें

मौतसंपादित करें

 
बाब अल-सगीर कब्रिस्तान, दमिश्क में बिलाल की कब्र।

वंशज और विरासतसंपादित करें

 
अम्मान, जॉर्डन में बिलाल का एक और कथित मकबरा

यह सभी देखेंसंपादित करें

  • गैर अरब साहब की सूची
  • ज़ायद इब्न हरिथाह
  • कीता राजवंश
  • मुहम्मद . के अभियानों की सूची
  • बिलाल: ए न्यू ब्रीड ऑफ हीरो, बिलाल के जीवन के बारे में 2015 की एनिमेटेड फिल्म।

टिप्पणियाँसंपादित करें

संदर्भसंपादित करें

बाहरी संबंधसंपादित करें

  1. Ludwig W. Adamec (2009), Historical Dictionary of Islam, p.68.
  2. Robinson, David.
  3. Levtzion, Nehemia, and Randall Lee Pouwels.
  4. Janeh, Sabarr.
  5. Stadler, Nurit (2020). Voices of the Ritual (अंग्रेज़ी में). Oxford University Press. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 978-0-19-750130-6.
  6. Abdul-Rauf, Muhammad.
  7. Muir, Sir William.
  8. Sodiq, Yushau.