मुहम्मद के अभियानों की सूची

पैग़म्बर मुहम्मद की मुहिमात

मुहम्मद के अभियानों की सूची (समय: 623- 632) (अंग्रेज़ी:List of expeditions of Muhammad) इस्लाम के पैगंबर मुहम्मद सल्ल. जीवनकाल के दौरान २९ बार घर से किसी हज ,मुहिम,अभियान, छापामारी, दुश्मन का पीछा,आक्रमण या युद्ध आदि के लिए घर से निकले। जिन ९ अभियानों में अपनी तलवार के साथ नेतृत्व किया ऐसे अभियान[1] को इस्लामी शब्दावली में ग़ज़वा कहते हैं। जिन मुहिम में किसी सहाबा को ज़िम्मेदार बनाकर भेजा और स्वयं नेतृत्व करते रहे उन अभियानों को सरियाह (सरिय्या) कहते हैं, इसका बहुवचन सराया है।[2] [3]

मुहम्मद और मुस्लिम समुदाय सहाबा द्वारा मार्च 623 से मई 632 तक लगभग ९५ सैन्य अभियान किए गए।

अभियानों की सूची

संपादित करें

1. ग़ज़वा ए अबवा: आपसी सहयोग और सुरक्षा के लिए एक शांति समझौता स्थापित किया गया इस अभियान के दौरान कोई लड़ाई नहीं हुई।

2. ग़ज़वा ए बुवात: छापा मार कार्यवाही, इस्लाम का कड़ा विरोध किया गया था, कोई लड़ाई नहीं हुई।

3. ग़ज़वा ए ज़ुल उशैरा [4]: यह 6 वां कारवां अभियान था। और तीसरा 'ग़ज़वा' (जिसमें मुहम्मद स्वयं सेनापति थे)

4. ग़ज़वा ए सफ़वान: मदीना से संबंधित ऊंटों को चुरा लिया गया था उनका पीछा किया गया वो भाग गए।

सरिय्या अब्दुल्लाह बिन जहश:पैग़म्बर मुहम्मद का सातवां अभियान जोकि विरोधियों की टोह लेने का अभियान अक्टूबर 623 में हुआ था।[5]

5. बद्र की लड़ाई: यह इस्लाम धर्म में पहली जंग थी। इसका उद्देश्य एक तिजारती काफिले के हमले का बदला लेना था। कुरैश कबीले के लोगों ने मोहम्मद के साथियों पर बहुत अत्याचार किया था इसके बदले में यह जंग हुई। इस जंग में इस्लाम धर्म के चारों ख़लीफ़ा भी मौजूद थे। इसमें मुस्लिम सेनाओं के नेतृत्व पैग़म्बर मुहम्मद साहब ने किया था और अंततः उनकी जीत हुई।[6]

6.ग़ज़वा ए सवीक:खेतों को बर्बाद करने वालों का पीछा किया गया।

7.ग़ज़वा ए बनी क़ैनुक़ाअ़: पंद्रह दिनों के अवरुद्ध होने के बाद जनजाति ने आत्मसमर्पण कर दिया।

8. अल कुद्र आक्रमण: बनी सलीम जनजाति के खिलाफ अभियान, जिसे अल कुद्र आक्रमण के रूप में भी जाना जाता है।

9. ग़ज़वा ए ज़ी अम्र: छापेमारी मुहिम थी। दुश्मन ने पहाड़ियों की चोटियों पर शरण ली।

10. बुहरान का आक्रमण: पूरे अभियान के दौरान, वे किसी भी दुश्मन से नहीं मिले, और कोई लड़ाई नहीं हुई। मुस्लिम विद्वान सैफुर रहमान अल-मुबारकपुरी के अनुसार अभियान को "गश्ती आक्रमण" के रूप में माना जाता है।

11.उहुद की लड़ाई: मुसलमानों के लिए, लड़ाई एक महत्वपूर्ण झटका थी। जब लड़ाई एक निर्णायक मुस्लिम जीत से केवल एक कदम दूर थी, तो मुस्लिम सेना के एक हिस्से ने एक गंभीर गलती की, जिसने लड़ाई के परिणाम को बदल दिया।

12.हमरा अल-असद की लड़ाई: उहद की लड़ाई के बाद मदीना में आपातकाल की स्थिति

13.बनू नज़ीर पर आक्रमण: यहूदी जनजाति बनी नज़ीर के साथ लड़ाई,, हराने के बाद इस्लामिक पैगंबर मुहम्मद की हत्या की साजिश रचने के बाद मदीना से निकाल दिया गया था।

14. बद्रे मौइद की लड़ाई 625 में मुसलमानों को अपनी प्रतिष्ठा हासिल करने में मदद की। जंग नहीं हुई।

15.ग़ज़वा ए जातुर्रिकाअ: ज़ात अल-रिका (पहाड़ों का चिथड़ा) का अभियान कहा जाता है। मुहम्मद ने उन्हें तितर-बितर करने के लिए एक आश्चर्यजनक छापेमारी की। कोई लड़ाई नहीं हुई।

16.ग़ज़वा ए दूमतुल जन्दल: मुसलमानों ने जंदाल के क्षेत्र में चार बार लड़ाई लड़ी थी।

17.खंदक़ की लड़ाई: मुहम्मद की कूटनीति ने वार्ता को खत्म कर दिया, और उसके खिलाफ संघ को तोड़ दिया। सुव्यवस्थित रक्षकों, संघीय मनोबल के डूबने, और खराब मौसम की स्थिति ने घेराबंदी को समाप्त कर दिया।

18.ग़ज़वा ए बनू क़ुरैज़ा: यहूदी जनजाति जो उत्तरी अरब में रहते थे से लड़ाई।परस्पर विरोधी दलों के बीच एक समझौता किया गया।

19.ग़ज़वा ए बनू लहयान: यहूदी जनजाति जो उत्तरी अरब में रहते थे से लड़ाई।

20.सुलह हुदैबिया: हुदैबियाह की संधि

21.फ़िदक की विजय: फदक के लोगों ने बिना किसी लड़ाई के आत्मसमर्पण कर दिया और शांति संधि की गुहार लगाई।

22.ख़ैबर की लड़ाई: शुरुआती मुसलमानों और हिजाज़ के यहूदियों के बीच के निर्णायक युद्ध के रूप में देखा जाता है।

23.वादियुल क़ुरा का तीसरा अभियान:घेराबंदी से यहूदियों ने आत्मसमर्पण कर दिया।

24.ग़ज़वा ए मूता: सितंबर 629 में लड़ी गई एक लड़ाई या झड़प थी, मुहम्मद की सेनाओं और बीजान्टिन साम्राज्य की सेनाओं और उनके अरब ईसाई जागीरदारों के बीच।

25.मक्का पर विजय[7]: मुस्लिम सेना मक्का में प्रवेश किया। प्रवेश खालिद के कॉलम को छोड़कर तीन क्षेत्रों पर शांतिपूर्ण और खून रहित प्रवेश था।

26.गज़वा ए हुनैन: इस्लामी पैगंबर मुहम्मद और उनके अनुयायियों द्वारा हवाज़िन के बेडौइन जनजाति और उसके सहयोगी जनजाति, थकीफ के खिलाफ 630 सीई में हुनैन घाटी में लड़ी गई थी।

27.सरिय्या औतास: मुहम्मद कबीलों के गठबंधन के खिलाफ 12,000 लड़ाकों के साथ आए, मुसलमान विजयी हुए।

28.गज़वा ए तायफ़: सलाहकारों के परामर्श और एक भविष्यवाणी के सपने के बाद, मुहम्मद ने घेराबंदी समाप्त कर दी और अपनी सेना वापस ले ली।

29.ग़ज़वा ए तबूक: जिसे उसरा के अभियान के रूप में भी जाना जाता है, एक सैन्य अभियान था, चुनौती देने के अपने इरादे का प्रदर्शन किया।

मुहम्मद के नेतृत्व वाले अभियान जिन में क़त्ल हुए

संपादित करें

पैग़म्बर मुहम्मद के नेतृत्व में हुए 27 अभियान में केवल 9 में क़त्ल हुए वो यह हैं:[8]

बद्र की लड़ाई (2 हिजरी)।

उहुद की लड़ाई (3 हिजरी)

खंदक़ की लड़ाई (5 हिजरी)

ग़ज़वा ए बनू क़ुरैज़ा (5 हिजरी)

ग़ज़वा ए बनू मुस्तलिक (5 हिजरी)

ख़ैबर की लड़ाई (7 हिजरी)।

मक्का पर विजय (8 हिजरी)।

गज़वा ए हुनैन (8 हिजरी)।

गज़वा ए तायफ़ (9 हिजरी) में 12 मुसलमान क़त्ल हुए।

मुहम्मद और सहाबा के अभियानों की सूची

संपादित करें

वो अभियान जिसमें मुहम्मद ने भाग लिया (28) जिसमें मुहम्मद के सहाबा ने भाग लिया (73)

प्रकार, नाम, सीई तिथि , एएच वर्ष(हिजरी)

1 सरिय्या हमज़ा इब्न अब्दुल मुत्तलिब, मार्च 623, 1

2 सरिय्या उबैदा बिन अल हारिस, अप्रैल 623, 1

3 अल-खर्रार का अभियान,मई 623, 1

4 वद्दन की गश्ती (अल- अबवा ' ) ,अगस्त 623, 1

5 बुवाती की गश्ती, सितंबर 623, 2

6 बद्र के लिए पहला अभियान (सफवान ), सितंबर 623, 2

7 ज़ुल अल-उशैराह की गश्ती दिसंबर, 623, 2

8 नखला रेड,जनवरी 624, 2

9 बद्र की लड़ाई, 15 मार्च 624, 2

10 अस्मा बिन्त मारवानी की हत्या, मार्च 624, 2

11 अबू अफकी की हत्या मार्च 624, 2

12 ग़ज़वा ए बनी क़ैनुक़ाअ़, अप्रैल 624, 2

13(7) ग़ज़वा ए सवीक, मई/जून 624, 2

14(8) Al Kudr Invasion मई 624 3

15 काब इब्न अल-अशरफी की हत्या अगस्त / सितंबर 624 3

16(9) धू अमर छापे सितंबर 624 3

17(10) बुहरानी का आक्रमण अक्टूबर/नवंबर 624 3

18 अल-क़रादा छापे नवंबर 624 3

19 उहुद की लड़ाई 23 मार्च 625 3

20 हमरा अल-असदी की लड़ाई मार्च 625 3

21 कतर का अभियान जून 625 4

22 अब्दुल्ला इब्न उनैस का अभियान जून 625 4

23 अल राजिक का अभियान जुलाई 625 4

24 बीर मौना का अभियान जुलाई 625 4

25 बानू नादिरो का आक्रमण अगस्त 625 4

26(14) बद्र अल-मौदी का अभियान अप्रैल 626 4

27(15) धात अल-रिका का अभियान जून 626 5

28(16) दुमत अल-जंदली का अभियान अगस्त / सितंबर 626 5

29 अल-मुरैसी का अभियान' जनवरी 627 5

30(17) खाई की लड़ाई अप्रैल 627 5

31(18) ग़ज़वा ए बनू क़ुरैज़ा मई 627 5

32 मुहम्मद इब्न Maslamah . का अभियान जून 627 6

33(19) बानो लह्यानी का आक्रमण जुलाई 627 6

34 धू क़रादी का अभियान अगस्त 627 6

35 उकाशा बिन अल-मिहसानी का अभियान अगस्त / सितंबर 627 6

36 बानो थलाबाही पर पहला छापा अगस्त / सितंबर 627 6

37 बानो थलाबाही पर दूसरा छापा अगस्त / सितंबर 627 6

38 ज़ैद इब्न हरिथा (अल-जुमुम) का अभियान सितम्बर 627 6

39 ज़ैद इब्न हरिथा (अल-इस) का अभियान सितंबर/अक्टूबर 627 6

40 Third Raid on Banu Thalabah अक्टूबर/नवंबर 627 6

41 ज़ायद इब्न हरिथा (हिस्मा) का अभियान अक्टूबर/नवंबर 627 6

42 ज़ायद इब्न हरिथा (वादी अल-क़ुरा) का अभियान नवंबर/दिसंबर 627 6

43 अब्दुर रहमान अम औफी का अभियान दिसम्बर 627/जनवरी 628 6

44 फ़िदाकी का अभियान दिसम्बर 627/जनवरी 628 6

45 वादी अल-कुरान का दूसरा अभियान 628 6

46 कुर्ज़ बिन जाबिर अल-फ़िहरी का अभियान जनवरी/फरवरी 628 6

47 अब्दुल्ला इब्न रावाह का अभियान फरवरी/मार्च 628 6

48(20) हुदैबियाह की संधि मार्च 628 6

49(21) फ़िदाकी की विजय मई 628 7

50(22) ख़ैबर की लड़ाई मई/जून 628 7

51(23) वादी अल कुरान का तीसरा अभियान मई 628 7

52 उमर इब्न अल-खताब का अभियान दिसंबर 628 7

53 अबू बक्र अस-सिद्दीकी का अभियान दिसंबर 628 7

54 बशीर इब्न साद अल-अंसारी (फदक) का अभियान दिसंबर 628 7

55 ग़ालिब इब्न अब्दुल्ला अल-लथी (मेफ़ा) का अभियान जनवरी 629 7

56 बशीर इब्न साद अल-अंसारी (यमन) का अभियान फरवरी 629 7

57 इब्न अबी अल-अवजा अल-सुलामी का अभियान अप्रैल 629 7

58 ग़ालिब इब्न अब्दुल्ला अल-लाठी (फ़दक) का अभियान मई 629 7

59 ग़ालिब इब्न अब्दुल्ला अल-लाठी (अल-कादीद) का अभियान जून 629 8

60 शुजा इब्न वह्ब अल-असदी का अभियान जून 629 8

61 काब इब्न 'उमैर अल-घिफारी' का अभियान जुलाई 629 8

62 मुताही की लड़ाई सितंबर 629 8

63 अम्र इब्न अल-असो का अभियान अक्टूबर 629 8

64 अबू उबैदा इब्न अल जर्राह का अभियान अक्टूबर 629 8

65 अबी हदद अल-असलामी का अभियान 629 8

66 अबू क़तादाह इब्न रबी अल-अंसारी (ख़दीरा) का अभियान दिसंबर 629 8

67 अबू क़तादाह इब्न रबी अल-अंसारी (बटन एडम) का अभियान दिसंबर 629 8

68(24) मक्का पर विजय जनवरी 630 8

69 खालिद इब्न अल-वालिद (नखला) का अभियान जनवरी 630 8

70 अम्र इब्न अल-असो की छापेमारी जनवरी 630 8

71 साद इब्न ज़ैद अल-अशली का छापा जनवरी 630 8

72 खालिद इब्न अल-वालिद (बानू जदीमा) का अभियान जनवरी 630 8

73(25) गज़वा ए हुनैन जनवरी 630 8

74 अत-तुफैल इब्न 'अम्र अद-दौसी' का अभियान जनवरी 630 8

75(26) ऑटोस की लड़ाई 630 8

76 अबू अमीर अल-अशरी का अभियान जनवरी 630 8

77 अबू मूसा अल-अशरी का अभियान जनवरी 630 8

78(27) गज़वा ए तायफ़ फरवरी 630 8

79 उयैना बिन हिस्नी का अभियान अप्रैल/मई 630 9

80 कुतुब इब्न अमीर का अभियान मई/जून 630 9

81 दहक अल-किलाबी का अभियान जून/जुलाई 630 9

82 अलक़ाम्मा बिन मुजाज़ीज़ का अभियान जुलाई/अगस्त 630 9

83 अली इब्न अबी तालिब (अल-फुल्स) का अभियान जुलाई/अगस्त 630 9

84 उकाशा बिन अल-मिहसन (उधरा और बाली) का अभियान 630 9

85(28) ताबुकी की लड़ाई अक्टूबर/दिसंबर 630 9

86 खालिद इब्न अल-वालिद (दुमतुल जंदल) का अभियान अक्टूबर 630 9

87 अबू सुफियान इब्न हार्ब का अभियान 630 9

88 मस्जिद अल-दिरारी का विध्वंस 630 9

89 खालिद इब्न अल-वालिद (दूसरा डुमातुल जंदल) का अभियान अप्रैल 631 9

90 सूरद इब्न अब्दुल्ला का अभियान अप्रैल 631 9

91 खालिद इब्न अल-वालिद (नजरान) का अभियान जून/जुलाई 631 10

92 अली इब्न अबी तालिब (मुधिज) का अभियान दिसंबर 631 10

93 अली इब्न अबी तालिब (हमदान) का अभियान 632 10

94 धुल खालसा का विध्वंस अप्रैल 632 10

95 उसामा बिन जायद (मुताह) का अभियान मई 632 10

मुहम्मद के नेतृत्व वाले अभियानों में हताहतों की संख्या

संपादित करें

मुहम्मद की सभी लड़ाइयों में सभी पक्षों के हताहतों की संख्या लगभग 1,000 है।[9] एक समकालीन इस्लामिक विद्वान, मौलाना वहीदुद्दीन खान का कहना है कि "23 वर्षों के दौरान जिसमें यह क्रांति पूरी हुई, 80 सैन्य अभियान हुए। 20 से कम अभियानों में वास्तव में कोई लड़ाई नही थी। 259 मुस्लिम और 759 गैर-मुस्लिम मारे गए। इन लड़ाइयों में- कुल 1018 मरे।"[10] मारे गए लोगों में से अधिकांश ग़ज़वा ए बनू क़ुरैज़ा बनू क़ुरैज़ा जनजाति के पुरुष थे।

यह भी देखें

संपादित करें
  1. contains a list of battles of Muhammad in Arabic, English translation available here "Archived copy". मूल से 16 August 2020 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 2011-06-11.सीएस1 रखरखाव: Archived copy as title (link)
  2. siryah https://en.wiktionary.org/wiki/siryah#English
  3. ग़ज़वात और सराया की तफसील, पुस्तक: मर्दाने अरब, पृष्ट ६२] https://archive.org/details/mardane-arab-hindi-volume-no.-1/page/n32/mode/1up
  4. सफिउर्रहमान मुबारकपुरी, अर्रहीकुल मख़तूम (सीरत नबवी ). "ग़ज़वा -ए- ज़ुल उशैरा". www.archive.org. पृ॰ 401. अभिगमन तिथि 13 दिसम्बर 2022.
  5. "सरिय्यए अब्दुल्लाह बिन जहश, पुस्तक 'सीरते मुस्तफा', पृष्ट 208". Cite journal requires |journal= (मदद)
  6. "बद्र की लड़ाई". Cite journal requires |journal= (मदद)
  7. पैगम्बर मोहम्मद (ﷺ) साहब का जीवन परिचय/ फ़तह – मक्का: https://ummat-e-nabi.com/siratun-nabi-hindi/#%E0%A5%9E%E0%A4%A4%E0%A4%B9_-_%E0%A4%AE%E0%A4%95%E0%A5%8D%E0%A4%95%E0%A4%BE
  8. "Ghazwat Un Nabi By Professor Noor Bakhsh,p 10 (Urdu Pdf]". www.archive.org.
  9. Alexander Kronemer. "Understanding Muhammad". Christian Science Monitor.
  10. Maulana Wahiduddin Khan, Muhammad: A Prophet for All Humanity, goodword (2000), p. 132

बाहरी कड़ियाँ

संपादित करें