बोरिस गृगोरेविच कोल्कर (जन्म 15 जुलाई 1939 तिरसपोल, मॉल्डोवा, सोविएट यूनियन में) एक भाषा-शिक्षक, अनुवादक तथा अंतर्राष्ट्रीय भाषा एस्परांतो के सलहकार हैं। 1993 तक वे सोविएत तथा रूसी नागरिक थे और तब से वे सयुंक्त राज्य अमरीका के नागरिक और निवासी हैं जो क्लीवलैंड, ओहायो में रहते हैं। 1985 में उन्हें भाषा-विज्ञान में भाषा-विज्ञान संस्थापन, मॉस्को द्वारा Ph.D की उपाधि मिली।

Boris Kolker
Boris KOLKER.jpg
जन्म Boris Grigorevich Kolker
15 जुलाई 1939 (1939-07-15) (आयु 81)
Tiraspol, Moldavian ASSR, Soviet Union[1]
आवास Cleveland, Ohio
राष्ट्रीयता Russian
व्यवसाय language teacher, translator


डॉ॰ कोल्कर ने 1957 में एस्पेरान्तो सीखी और वे भाषा-विज्ञान के एक लेख, किताब-समालोचनाओं तथा तीन लोकप्रिय बच्चों के लिए एस्पेरान्तो किताबों के लेखक हैं। उनकी किताब 'Vojaĝo en Esperanto-lando' (एसपरनतो-मुल्क की यात्राएँ), जो एस्पेरान्तो सीखने के लिए तथा एस्पेरान्तो संस्कृति के बारे में बताने वाली एक पुस्तक है, की प्रसिद्धि के कारण वे बहुत लोगों में एसपरनतो-मुल्क के पथप्रदर्शक के रूप में जाने जाते हैं।

कोल्कर एस्पेरान्तो अकादमी तथा विश्व एस्पेरान्तो संघ Universala Esperanto Asocio के सदस्य हैं तथा मासिक पत्रिका मोनातो के सहायक संपादक हैं। दो दशकों के लिए उन्होनें रुस में एक बड़े एस्पेरान्तो पत्रव्यवहार कोर्स की अध्यक्षता की जिसके कारण तकरीबन 900 छात्र ग्रेजुएट हुए। उन्होने सान फ्रांसिस्को तथा हार्टफोर्ड के अमरीकी विश्वविद्यालयों में एस्पेरान्तो पढ़ाया।

संदर्भसंपादित करें

  1. "Boris Kolker". MIT Media Lab - Pantheon (Mapping Historical Cultural Production) (अंग्रेज़ी में). 2016. मूल से 1 मई 2019 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 5 November 2017.