भूटानी राष्ट्रीय सभा चुनाव २०१८

राष्ट्रीय विधानसभा चुनाव, भूटान में 2018 में आयोजित किए गए थे। इन चुनावों में मतदान का पहला चरण 15 सितंबर को आयोजित किया गया था तथा दूसरा चरण 18 अक्टूबर को हुआ था।[2] इस चुनाव के परिणामस्वरूप भूटान में द्रुक न्यामरूप त्शोंगपा (डीएनटी), राष्ट्रीय सभा में बहुमत के साथ विजयी रही तथा लोकतांत्रिक रूप से सरकार में सत्ता का परिवर्तन हुआ, एवं डीएनटी के अध्यक्ष, लोतेय त्शेरिंग नए प्रधानमंत्री के रूप में निर्वाचित हुए।

भूटानी राष्ट्रीय विधानसभा चुनाव २०१८
भूटान
← 2013 15 सितंबर 2018 (प्रथम चरण)
18 अक्टूबर 2018 (द्वितीय चरण)
2023 →

भूटान की राष्ट्रीय सभा के सभी ४७ सीटें
बहुमत के लिए चाहिए 24
  पहली पार्टी दूसरी पार्टी
  Prime Minister of Bhutan Dr. Lotay Tshering on December 28, 2018 (cropped).jpg Noimage.png
नेता लोतेय त्शेरिंग पेमा ग्यामत्शो
पार्टी डीएनटी भूटान शांति और समृद्धि पार्टी
नेता बने 14 मई 2018[1] 3 दिसम्बर 2013
नेता की सीट दक्षिण थिम्पू छोएखोर-तांग
पिछला चुनाव 17.04%, 0 आसान 45.12%, 15 सीटें
चुनाव पूर्व सीटें 0 15
सीटें जीतीं 30 17
सीटों में बदलाव Increase 30 Increase 2

प्रधामनंत्री चुनाव से पहले

त्शेरिंग तोबगे
पीपल्स डेमोक्रेटिक पार्टी (भूटान)

निर्वाचित प्रधानमंत्री

लोतेय त्शेरिंग
द्रुक न्यामरूप त्शोंगपा

चुनाव की समयरेखासंपादित करें

पूर्व प्रधानमंत्री त्शेरिंग तोबगे की सत्तारूढ़ पीपल्स डेमोक्रेटिक पार्टी (भूटान) मतदान के पहले दौर में तीसरे स्थान पर रही। उनकी पार्टी, चुनाव के दूसरे दौर में अर्हता प्राप्त करने में अप्रत्याशित रूप से विफल रही, जिसके परिणामस्वरूप उन्हें राष्ट्रीय विधायिका में अपने सभी 32 सीटों को खोना पड़ा।[3]

चुनाव का दूसरा दौर, भूटान पीस एंड प्रॉस्पेरेटी पार्टी (द्रुक फुएनसुम त्शोंगपा, डीपीटी) और द्रुक न्यामरूप त्शोंगपा (डीएनटी) के बीच लड़ा गया था। डीएनटी को पहले दौर में सबसे अधिक वोट प्राप्त हुए थे। इस चुनाव से पूर्व, प्रधानमंत्री तोबगे की पार्टी (पीडीपी) के अलावा केवल द्रुक फुएनसुम त्शोंगपा (डीपीटी) ही ऐसी पार्टी थी, जिसकी राष्ट्रीय विधानसभा में प्रतिनिधित्व मौजूद था, जबकि विजयी पार्टी, डीएनटी, राष्ट्रीय सभा के एक भी आसन पर काबिज़ नहीं थी।

निर्वाचन पद्धतिसंपादित करें

भूटान में राष्ट्रीय सभा के चुनाव दो चरण में होते हैं। सदन के कुल ४७ सदस्य, एक-सदस्यीय निर्वाचन क्षेत्रों से चुन कर आते है। सर्वप्रथम प्राथमिक चुनाव आयोजित किया जाता है, जिसमें, प्रत्येक मतदाता, अपनी पसंदीदा पार्टी के पक्ष में अपना मत डालता/डालती है। इस चरण में सारे राजनैतिक दल हिस्सा ले सकते हैं। बहरहाल, प्राथमिक चरण के नतीजों के आधार पर सर्वलोकप्रिय, प्रमुख दो पार्टियों के बीच ही अगला और प्रमुख चरण का निर्वाचन होता है, और केवल यही दो प्रमुख राजनैतिक दल चुनाव में अपने प्रत्याशियों को विभिन्न निर्वाचन क्षेत्रों में उतार सकते हैं। दूसरे चरण के इस मतदान में, प्रत्येक निर्वाचन क्षेत्र से अधिकतम मत प्राप्त करने वाले प्रत्याशी को ही राष्ट्रीय विधानसभा में, तद क्षेत्र के प्रत्याशी के रूप में आसान ग्रहण करने का मौक़ा मिलता है। चुनावों के बाद, इन प्रमुख दो दलों में से सबसे अधिक सीट प्राप्त करने वाला दल, सरकार बनाता है, तथा प्रधानमंत्री व अन्य मंत्रीगण इसी दल के होते हैं। तथा दूसरी पार्टी को विपक्षी दल का दर्जा मिलता है।[4]

परिणामसंपादित करें

 
राजनैतिक दल प्रथम चरण द्वितीय चरण
मत संख्या % मत संख्या % सीट +/–
द्रुक न्यामरूप त्शोंगपा 92,722 31.85 30 +30
भूटान पीस एंड प्रॉस्पेरेटी पार्टी 90,020 30.92 17 +2
पीपल्स डेमोक्रेटिक पार्टी 79,883 27.44 0 –32
भूटान कुएन-न्याम पार्टी 28,473 9.78 0 नई
Total 291,098 100 310,273 100 47 0
पंजीकृत मतदाता/भागीदारी 438,663 66.36 438,663 70.73
Source: ईसीबी, कुएंसेल ऑनलाइन

सन्दर्भसंपादित करें