भूटान का अधिकतर हिस्सा पर्वतीय ओर जंगलों में आता है और जैसी भूटान की अर्थव्यवस्था है, यहाँ के शासकों द्वारा यहाँ अच्छे यातायात के संसाधन को उपलब्ध करवाना कभी मुमकिन नहीं था। वर्तमान में भारत सरकार यहाँ विकास के बहुत सी परियोजनाएँ चला रही हैं। इनमें सड़क निर्माण, ब्रिज निर्माण, बांध निर्माण आदि शामिल हैं। इससे भूटान में यातायात और अर्थव्यवस्था दोनों में सुधार आ रहा है।

हवाई यातायातसंपादित करें

हवाई मार्ग से भूटान जाने के लिए एक ही कंपनी का विमान चलती है, जिसे ड्रुक एयर कहा जाता है। यह विमान कंपनी वहाँ के राजा की है और किसी दूसरे देश की विमान कंपनियों को भूटान के इकलौते एयरपोर्ट पारो पर उतरने की अनुमति नहीं है।[1]

सन्दर्भसंपादित करें

  1. "संग्रहीत प्रति". मूल से 29 सितंबर 2018 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 28 सितंबर 2018.