मकर रेखा (Tropic of Capricorn, ट्रॉपिक ऑफ़ कैप्रीकॉर्न) रेखा पृथ्वी के दक्षिणी गोलार्ध में भूमध्य रेखा‎ के समानान्तर २३ डिग्री २६' २२" दक्षिण अक्षांश पर, ग्लोब पर पश्चिम से पूर्व की ओर खींची गई एक कल्पनिक रेखा हैं। २२ दिसम्बर को सूर्य मकर रेखा पर लम्बवत चमकता है। मकर रेखा या दक्षिणी गोलार्ध पाँच प्रमुख अक्षांश रेखाओं में से एक हैं जो पृथ्वी के मानचित्र पर परिलक्षित होती हैं। मकर रेखा पृथ्वी की दक्षिणतम अक्षांश रेखा हैं, जिसपर सूर्य दोपहर के समय लम्बवत चमकता हैं। यह घटना दिसंबर संक्रांति के समय होती हैं। जब दक्षिणी गोलार्ध सूर्य के समकक्ष अत्यधिक झुक जाता है। उत्तरी गोलार्ध में कर्क रेखा उसी भांति है, जैसे दक्षिणी गोलार्ध में मकर रेखा। मकर रेखा के दक्षिण में स्थित अक्षांश, दक्षिण शीतोष्ण क्षेत्र मे आते हैं। मकर रेखा के उत्तर तथा कर्क रेखा के दक्षिण मे स्थित क्षेत्र उष्णकटिबन्ध कहलाता है।[1]7

विश्व के मानचित्र पर मकर रेखा
मकर रेखा को चिन्हित करते हुए स्मारक चिह्न, जो अन्टोफगास्ता, चिली के उत्तर में स्थित हैं।
चिन्हित स्थल जहां से मकर रेखा नाम्बिया देश में से होकर गुजरती हैं
मकर रेखा को चिन्हित करते हुए स्मारक चिह्न, जो एलिस स्प्रिंग्स, ऑस्ट्रेलिया के उत्तर में स्थित हैं

भूगोलसंपादित करें

इन्हें भी देखेंसंपादित करें

सन्दर्भसंपादित करें

  1. William M. Marsh; Martin M. Kaufman (2012). Physical Geography: Great Systems and Global Environments. Cambridge University Press. p. 24. ISBN 978-0-521-76428-5.