मज़ार ए शरीफ़ पूर्वी अफ़ग़ानिस्तान में स्थित चौथा सबसे बड़ा शहर और एक प्रसिद्ध इस्लामिक वास्तुकला का केन्द्र है। यह बल्ख़ प्रान्त की राजधानी है और पूर्व में कुंदुज़ के साथ, दक्षिण-पूर्व में काबुल, पश्चिम में हेरात और उत्तर में उजबेकिस्तान के टर्मेज़ के साथ राजमार्गों से जुड़ा हुआ है। यह उज़बेक सीमा से लगभग 55 किमी (34 मील) दूर है। यह शहर अपने प्रसिद्ध धार्मिक स्थलों के साथ-साथ इस्लामिक और हेलेनिस्टिक पुरातत्व स्थलों के कारण पर्यटक आकर्षणों में से एक है। बल्ख़ का प्राचीन शहर भी पास में स्थित है।

मज़ार-ए-शरीफ़
Afghan Air Force helicopter flies over Mazar-i-SharifView towards the Blue Mosque during Nowruz
नीली मस्जिदनगर का केन्द्र
ऊपर से बांये से दांये की ओर: अफगान वायुसेना का हेलीकॉप्टर मज़ार-ए-शरीफ़ पर उड़ान भरता हुआ; नवरोज के दौरान दूर से नीली मस्जिद का दृश्य; नीली मस्जिद; नगर का केन्द्र।
मज़ार-ए-शरीफ़ की अफ़ग़ानिस्तान के मानचित्र पर अवस्थिति
मज़ार-ए-शरीफ़
अफ़ग़ानिस्तान में अवस्थिति।
निर्देशांक: 36°42′N 67°07′E / 36.700°N 67.117°E / 36.700; 67.117निर्देशांक: 36°42′N 67°07′E / 36.700°N 67.117°E / 36.700; 67.117
देशFlag of Afghanistan.svg अफ़ग़ानिस्तान
प्रांतबल्ख़ प्रान्त
जिलामज़ार-ए-शरीफ़ ज़िला
शासन
 • महापौरअब्दुल्लाक खुरामी
क्षेत्रफल
 • थल83 किमी2 (32 वर्गमील)
ऊँचाई357 मी (1,171 फीट)
जनसंख्या (2015)[1]
 • कुल4,27,600[1]
समय मण्डलअफ़ग़ानिस्तान मानक समय (यूटीसी+4:30)
जलवायुशीत अर्द्धशुष्क जलवायु

कहते हैं कि इसके नीचे इस्लामपूर्व ईरान के संत जरथुष्ट्र का मकबरा है।

जनसांख्यिकीसंपादित करें

मज़ार-ए-शरीफ़ शहर की कुल आबादी 693,000 (2015) है,[1] और आबादी के अनुसार यह अफ़ग़ानिस्तान का तीसरा सबसे बड़ा शहर है।[1] इसमें 77,615 आवासों की कुल संख्या के साथ 8,304 हेक्टेयर की कुल भूमि क्षेत्र है।[2]

मजार-ए-शरीफ में लगभग 375,000 लोगों का एक बहुभाषी और बहुजातीय समाज है। जातीय स्थिति पर कोई आधिकारिक सरकार की रिपोर्ट नहीं है, हालांकि नेशनल ज्योग्राफिक पत्रिका के नवंबर 2003 के अंक में छपे एक रिपोर्ट के अनुसार यहां ताजिक 50%, हज़ार 25%, पश्तून 10%, तुर्कमेन 8%, और उज्ब़ेक 7% बताया गया था।[3] क्षेत्र में पिछले दशकों में कभी-कभी जातीय हिंसा हुई है, मुख्य रूप से पश्तूनों और अन्य समूहों के बीच।[4][5][6][7] कुछ नवीनतम समाचार रिपोर्टों में इस क्षेत्र में हुई हत्याओं का उल्लेख किया गया था, लेकिन इसके पीछे कोई सबूत नहीं है।[8]

मज़ार-ए-शरीफ़ में प्रमुख भाषा फारसी की पूर्वी किस्म है, जिसके बाद उज्बेकी और पश्तो आते हैं। मजार-ए शरीफ की आबादी का अधिकांश हिस्सा सुन्नी इस्लाम से सम्बंधित है

सन्दर्भसंपादित करें

  1. "The State of Afghan Cities Report 2015". मूल से 31 October 2015 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 21 October 2015.
  2. "The State of Afghan Cities Report 2015". अभिगमन तिथि 20 October 2015.
  3. "2003 National Geographic Population Map" (PDF). Thomas Gouttierre, Center For Afghanistan Studies, University of Nebraska at Omaha; Matthew S. Baker, Stratfor. National Geographic Society. November 2003. अभिगमन तिथि 2012-07-21.
  4. "Pashtuns say they're being brutalized". USA Today. United States. 05/12/2002. अभिगमन तिथि 2011-04-01. |date= में तिथि प्राचल का मान जाँचें (मदद)
  5. Recknagel, Charles (March 14, 2002). "UN Condemns Attacks On Ethnic Pashtuns". hewad.com. Prague: Radio Free Europe/Radio Liberty. अभिगमन तिथि 2011-04-01.
  6. "Pashtuns attacked in brutal raids by rival ethnic groups". Guardian News. buzzle.com. 2008. मूल से 2005-02-09 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 2011-04-01.
  7. "Afghanistan: Situation in, or around, Aqcha (Jawzjan province) including predominant tribal/ethnic group and who is currently in control". Immigration and Refugee Board of Canada/UNHCR. 1 फरवरी 1999. मूल से 10 मई 2011 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 2011-04-01.
  8. Ehsas, Zabiullah (31 मार्च 2011). "Tribal elders in Balkh worry about assassinations". Afghanistan: Pajhwok Afghan News. अभिगमन तिथि 2011-04-01.