मुख्य मेनू खोलें


██ सुन्नी ██ शिया ██ इबादी

सुन्नी मुस्लिम इस्लाम के सबसे बड़े सम्प्रदाय सुन्नी इस्लाम को मानने वाले मुस्लिम हैं। सुन्नी इस्लाम को अहले सुन्नत व'ल जमाअत (अरबी: أهل السنة والجماعة‎ "(मुहम्म्द के) आदर्श लोग और समुदाय") या संक्षिप्त में अहल अस- सुन्नाह (अरबी: أهل السنة‎) भी कहते हैं। सुन्नी शब्द अरबी के सुन्नाह (अरबी: سنة) से आया है, जिसका अर्थ (पैगम्बर मोहम्मद) की बातें और कर्म या उनके आदर्श है। सामान्य अर्थों में सुन्नी -पवित्र ईशसन्देश्टा मुहम्मद स० के निधन के पश्चात जिन लोगों ने मुहम्मद स० द्वारा बताये गये नियमों का पालन किया सुन्नी कहलाऐ।

इस समय सुन्नी मुस्लिम 90% है तथा ये आंकड़ा 5 गिरोह को मिलाकर बनता हैं।[2]

हऩफी इमाम अबु हनिफा के मुकल्लीद है|

मालिकी इमाम मालिक के मुकल्लीद है|

हंबली इमाम अहमद बिन हंबल के मुकल्लीद है

शाफई इमाम शाफई के मुकल्लीद है|

जबकी सलफ़ी सुन्नी मुहम्मद साहब को अपना इमाम मानते है| हालांकी सलफ़ी सुन्नी सभी इमामो का सम्मान करते है मगर अपना इमाम सिर्फ मुहम्मद साहब को मानते है|

इन्हें भी देखेंसंपादित करें

सन्दर्भसंपादित करें

  1. Source for distribution is the CIA World Factbook, Shiite/Sunnite distribution collected from other sources. Shiites may be underrepresented in some countries where they do not appear in official statistics.
  2. "कितने पंथों में बंटा है मुस्लिम समाज?".