मद्रास विश्वविद्यालय

दक्षिण भारत का विश्वविद्यालय

मद्रास विश्विद्यालय भारत के तमिलनाडु प्रांत की राजधानी चेन्नई नगर में स्थित है। यह दक्षिण भारत के विश्वविद्यालयों में सबसे पुराना विश्वविद्यालय है। ११ नवम्बर १८३९ में एक सार्वजनिक याचिका द्वारा मद्रास विश्वविद्यालय का प्रारंभ हुआ। १८४० में जार्ज नॉर्टन की अध्यक्षता में विश्वविद्यालय समिति का निर्माण हुआ और ५ सितंबर १८५७ से यह विश्वविद्यालय प्रारंभ हुआ।

मद्रास विश्वविद्यालय
अन्य नाम
चेन्नई पलकलाईकजहागम
ध्येयDoctrina Vim Promovet Insitam (लैटिन) "सीखना प्राकृतिक प्रतिभा को बढ़ावा देता है" (हिन्दी)
प्रकारराज्य विश्वविद्यालय
स्थापित5 September 1857; 166 वर्ष पूर्व (5 September 1857)
कुलाधिपतितमिल नाडु के राज्यपाल
उपकुलपतिएस. गौरी
शैक्षिक कर्मचारी
345[1]
छात्र4,819[1]
परास्नातक3,239[1]
1,099[1]
स्थानचेन्नई, तमिल नाडु, भारत
13°5′2″N 80°16′12″E / 13.08389°N 80.27000°E / 13.08389; 80.27000निर्देशांक: 13°5′2″N 80°16′12″E / 13.08389°N 80.27000°E / 13.08389; 80.27000
परिसरशहरी
रंग     Cardinal
उपनाममद्रास टाइगर्स
संबद्धताएं यूजीसी, नैक, एआईयू
शुभंकरबाघ
जालस्थलunom.ac.in

देखें संपादित करें

उल्लेखनीय पूर्व छात्र संपादित करें

सन्दर्भ संपादित करें

  1. "University Student Enrollment Details". www.ugc.ac.in. अभिगमन तिथि 10 February 2020.

बाहरी कड़ियाँ संपादित करें