मुख्य मेनू खोलें

मनोज कुमार एक हिन्दी फिल्म अभिनेता हैं। उनका पूर्व नाम हरिकिशन गिरि गोस्वामी था। भारतीय सिनेमा के प्रसिद्ध अभिनेता, फिल्म निर्मातानिर्देशक हैं। अपनी फ़िल्मों के जरिए मनोज कुमार ने लोगों को देशभक्ति की भावना का गहराई से एहसास कराया। मनोज कुमार शहीद-ए-आजम भगत सिंह से बेहद प्रभावित हैं और उन्होने शहीद जैसी देशभक्ति फ़िल्म में अभिनय किया तो कई जनों की प्रेरणा बने। हिन्दी सिनेमा में मनोज कुमार ने बहुत देशभक्ति फिल्में बनाईं। उन्हें एक देशभक्त अभिनेता के रूप में भी जाना जाता है। और उनके जैसा देशभक्त एवं सुन्दर अभिनेता भारतीय सिनेमा के 100 वर्ष में दूसरा कोई नहीं हुआ।[1] 1992 में मनोज कुमार को भारत सरकार द्वारा पद्मश्री से सम्मानित किया गया।

मनोज कुमार
Manoj Kumar at Esha Deol's wedding at ISCKON temple 10.jpg
2012 में मनोज कुमार
जन्म हरिकृशन गिरि गोस्वामी
24 जुलाई 1937 (1937-07-24) (आयु 82)
राष्ट्रीयता भारतीय
व्यवसाय अभिनेता, निर्देशक
जीवनसाथी शशि गोस्वामी

जीवन परिचयसंपादित करें

मनोज कुमार का जन्म 24 जुलाई 1937 को पाकिस्तान के अबोटाबाद में हुआ था। उनका असली नाम हरिकिशन गिरि गोस्वामी है। देश के बंटवारे के बाद उनका परिवार राजस्थान के हनुमानगढ़ ज़िले में बस गया था। मनोज ने अपने करियर में शहीद, उपकार, पूरब और पश्चिम और 'क्रांति' जैसी देशभक्ति पर आधारित अनेक बेजोड़ फ़िल्मों में काम किया। इसी वजह से उन्हें भारत कुमार भी कहा जाता है।

फिल्मी सफरसंपादित करें

मनोज कुमार की पहली फिल्म फैशन (1957) थी। उसके बाद शहीद (1965) से उन्हें लोकप्रियता मिलनी प्रारम्भ हो गई। उन्होंने अधिकतर देशभक्ति फिल्मों में अभिनय किया। वो एक फिल्म निर्माता एवं निर्देशक भी थे। उन्होने कई देशभक्ति फिल्में भी बनाईं। कुमार ने भूतपूर्व भारतीय प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री के कहने पर उपकार बनाईं जो शास्त्री जी के दिए हुए नारे जय जवान जय किसान पर आधारित थी। मनोज कुमार की फिल्मों में 'हरियाली और रास्ता' (1962), 'वो कौन थी' (1964), 'शहीद' (1965), 'हिमालय की गोद में' (1965), 'गुमनाम' (1965), 'पत्थर के सनम' (1967), 'उपकार' (1967), 'पूरब और पश्चिम' (1969), 'रोटी कपड़ा और मकान' (1974), 'क्रांति प्रमुख हैं। फिल्म 'उपकार' के लिए मनोज कुमार को नेशनल अवॉर्ड से नवाजा गया था।[2]

व्यक्तिगत जीवनसंपादित करें

हिंदू कॉलेज, दिल्ली विश्वविद्यालय से स्नातक होने के बाद, उन्होंने फ़िल्म उद्योग में प्रवेश करने का फैसला किया।

प्रमुख फिल्मेंसंपादित करें

वर्ष फ़िल्म चरित्र टिप्पणी
1995 मैदान-ए-जंग
1989 क्लर्क
1989 देशवासी
1989 संतोष
1987 कलयुग और रामायण
1981 क्रांति
1979 जाट पंजाबी
1977 शिरडी के साईं बाबा
1977 अमानत
1976 दस नम्बरी
1975 सन्यासी
1974 रोटी कपड़ा और मकान
1972 बेईमान
1972 शोर
1970 मेरा नाम जोकर
1970 पूरब और पश्चिम
1970 यादगार
1970 पहचान
1969 साजन
1968 नीलकमल
1968 आदमी
1967 अनीता
1967 उपकार
1967 पत्थर के सनम
1966 दो बदन
1966 पिकनिक
1966 सावन की घटा
1965 हिमालय की गोद में
1965 पूनम की रात
1965 शहीद
1965 बेदाग
1965 गुमनाम
1964 वो कौन थी
1964 अपने हुए पराये
1964 फूलों की सेज
1963 घर बसा के देखो
1963 गृहस्थी
1962 हरियाली और रास्ता
1962 माँ बेटा
1962 अपना बना के देखो
1962 बनारसी ठग
1962 डॉक्टर विद्या
1962 नकली नवाब
1962 शादी
1961 सुहाग सिन्दूर
1961 काँच की गुड़िया
1961 रेशमी रूमाल
1960 हनीमून
1958 पंचायत
1958 सहारा
1957 फैशन

बतौर लेखकसंपादित करें

वर्ष फ़िल्म टिप्पणी
1999 जय हिन्द
1989 क्लर्क
1987 कलयुग और रामायण
1981 क्रांति
1974 रोटी कपड़ा और मकान
1972 शोर
1970 मेरा नाम जोकर
1970 पूरब और पश्चिम
1970 यादगार
1967 उपकार

बतौर निर्मातासंपादित करें

वर्ष फ़िल्म टिप्पणी
1999 जय हिन्द
1989 क्लर्क
1983 पेंटर बाबू
1981 क्रांति
1974 रोटी कपड़ा और मकान
1972 शोर
1970 पूरब और पश्चिम

बतौर निर्देशकसंपादित करें

वर्ष फ़िल्म टिप्पणी
1999 जय हिन्द
1989 क्लर्क
1981 क्रांति
1974 रोटी कपड़ा और मकान
1972 शोर
1970 पूरब और पश्चिम
1967 उपकार

पुरस्कारसंपादित करें

फ़िल्मफ़ेयर पुरस्कारसंपादित करें

मनोज कुमार को वर्ष २००८ मेंं मध्य प्रदेश सरकार ने किशोर कुमार सम्मान से सम्मानित किया।

सन्दर्भसंपादित करें

  1. "बॉलीवुड के 100 साल में नहीं आया मनोज कुमार जैसा हैंडसम हीरो,धर्मेंद्र भी इनके आगे कुछ नहीं". अमर उजाला. अभिगमन तिथि 24-09-2018. |accessdate= में तिथि प्राचल का मान जाँचें (मदद)
  2. "लाल बहादुर शास्त्री के कहने पर मनोज कुमार ने बनाई थी देशभक्ति वाली फिल्म, ऐसे बने मनोज से 'भारत कुमार'". www.bhaskar.com. अभिगमन तिथि 24-09-2018. |accessdate= में तिथि प्राचल का मान जाँचें (मदद)

बाहरी कड़ीयाँसंपादित करें