मुख्य मेनू खोलें

मन मन्दिर 1971 में बनी हिन्दी भाषा की फिल्म है। इसका निर्देशन तापी चाणक्य द्वारा किया गया। फिल्म में वहीदा रहमान और संजीव कुमार हैं। संगीत लक्ष्मीकांत-प्यारेलाल का है।

मन मन्दिर
मन मन्दिर.jpg
मन मन्दिर का पोस्टर
निर्देशक तापी चाणक्य
निर्माता सुदेश कुमार
अभिनेता संजीव कुमार
वहीदा रहमान
संगीतकार लक्ष्मीकांत-प्यारेलाल
प्रदर्शन तिथि(याँ) 1971
देश भारत
भाषा हिन्दी

संक्षेपसंपादित करें

बहुत कम उम्र में अनाथ हो चुके दीपक (संजीव कुमार) और उसकी बहन, लक्ष्मी, गरीबी में रहते हैं। दीपक का परिचय कृष्णा (वहीदा रहमान) से होता है और जल्द ही दोनों शादी कर लेते हैं। वह कृष्णा के भाई रामू (राकेश रोशन) के साथ रहते हैं। दीपक टैक्सी चलाता है और यह उनकी कमाई का मुख्य माध्यम है। जल्द ही कृष्णा गर्भवती हो जाती है और पूरे घर में खुशी होती है। रामू बुरी संगत में पड़ जाता है और अपने दोस्तों के लिए एक पार्टी देने के लिए कृष्णा का हार चुरा लेता है।

एक दयालु धनी जौहरी, श्याम लाल (डेविड अब्राहम), दीपक को हार लौटा देता है। क्योंकि दीपक ने उसका नकदी से भरा सूटकेस लौटाया था। श्याम लाल अपने डॉक्टर बेटे शंकर की लक्ष्मी से शादी करना चाहते हैं। फिर दीपक का जीवन पलट जाता है क्योंकि वह पाता है कि लक्ष्मी गर्भवती है। कुछ ही समय बाद रामू एक कार से नीचे आ जाता है; उसकी पत्नी बच्चे को जन्म देती है और उसका निधन हो जाता है और लक्ष्मी नदी में डूब कर जान दे देती है।

मुख्य कलाकारसंपादित करें

संगीतसंपादित करें

सभी गीत राजेन्द्र कृष्ण द्वारा लिखित; सारा संगीत लक्ष्मीकांत-प्यारेलाल द्वारा रचित।

क्र॰शीर्षकगायकअवधि
1."आ आजा आजा अभी नहीं"किशोर कुमार, आशा भोंसले3:50
2."ऐ मेरी आँखों के पहले सपने" (I)लता मंगेशकर, मुकेश4:02
3."ऐ मेरी आँखों के पहले सपने" (II)मुकेश, लता मंगेशकर4:10
4."जादूगर तेरे नैना"किशोर कुमार, लता मंगेशकर5:45
5."कहिये जी क्या लोगे"आशा भोंसले5:25
6."मुन्ना जायेगा बाजार"सुमन कल्याणपुर4:30

बाहरी कड़ियाँसंपादित करें