मावठा झील भारत के राजस्थान प्रदेश की राजधानी में आमेर दुर्ग के नीचे स्थित है। यह एक कृत्रिम झील है, जिसका निर्माण महल की सुरक्षा एवं सुन्दरता बढ़ाने के लिए किया गया था। झील के एक किनारे के साथ-साथ ही दुर्ग में जाने का पैदल मार्ग है, एवं एक सुंदर उद्यान भी बना है। इसका निर्माण कछवाहा राजा जयसिंह के समय में किया गया था। इस उद्यान का नाम दुलाराम बाग है। वर्षा ऋतु में मावठा झील पानी से भर जाती है एवं तब यहाँ की सुन्दरता देखने लायक होती है।[2] झील की अधिकतम लम्बाई ६८० मी. एवं अधिकतम चौड़ाई २२० मी. है।[1]

मावठा झील
मावठा झील - आमेर दुर्ग से मावठा झील का सुंदर दृश्य
आमेर दुर्ग से मावठा झील का सुंदर दृश्य
स्थान आमेर, जयपुर, राजस्थान, भारत
निर्देशांक 26°59′0.154″N 75°51′4.3103″E / 26.98337611°N 75.851197306°E / 26.98337611; 75.851197306निर्देशांक: 26°59′0.154″N 75°51′4.3103″E / 26.98337611°N 75.851197306°E / 26.98337611; 75.851197306
झील का प्रकार मीठी झील
अपवहन द्रोणी देश भारत
अधिकतम लम्बाई ६८० मी.
अधिकतम चौड़ाई २२० मी.[1]
तटीय बसेरे जयपुर

मावठा झील के बीच में एक छोटा-सा टापू बना है जिस पर एक उद्यान भी है। इसे केसर क्यारी कहा जाता है, क्योंकि कभी इसमें सुगन्धित केसर बोई जाती थी, जिससे महल के निकट का वातावरण महकता रहता था। महल के हाथियों को किसी किसी अवसर पर यहाँ जल क्रीड़ा करते हुए देखा जा सकता है।

इतिहाससंपादित करें

पूर्व में इसके तट पर बड़े-बड़े वट वृक्ष हुआ करते थे, जिसके कारण इसका नाम महावटा सरोवर पड़ा जो कालांतर में बिगड़ कर मावटा बन गया।[3] ये वृक्ष महाराजा ने १५वीं शताब्दी में लगवाये थे।[4] यह सरोवर पर्वत से बहकर आये हुए वर्षा के जल को संग्रह करता है, एवं आमेर महल तथा निकटवर्ती जनसाधारण का मुख्य जलस्रोत है। जयपुर में गणेश चतुर्थी के अवसर पर स्थापित हुई गणपति प्रतिमाओं का विसर्जन इसी झील में हुआ करता है।[5] इस महल के बारे में यहां तक कहा जाता था कि मावठा झील के किनारे बसे महल को देखकर प्रतीत होता है कि जैसे सोने की तश्तरी में हीरे-मोती जड़ दिये हों।[6]

चित्र दीर्घासंपादित करें

सन्दर्भसंपादित करें

  1. माओठा लेक ऍट आमेर, राजस्था Archived 15 नवम्बर 2017 at the वेबैक मशीन.।नैच्युरल लेक्स ऑन वेमार्किंग।(अंग्रेज़ी)।अभिगमन तिथि: १४ नवंबर, २०१७
  2. मावठा झील Archived 15 नवम्बर 2017 at the वेबैक मशीन.।भारतकोश।अभिगमन तिथि: १४ नवंबर, २०१७
  3. मावटा लेख सीन फ़्रॉम आमेर फ़ोर्ट Archived 13 मार्च 2016 at the वेबैक मशीन.। यू-ट्यूब
  4. "मावता लेक एण्ड टुअर्स, ट्रिप्स एण्ड टिकट्स - जयपुर अट्रैक्शन्स| वायेटर डॉट कॉम". www.viator.com. मूल से 15 नवंबर 2017 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि २०१५-०९-२१.
  5. "मावठा सरोवर - आमेर, जयपुर". http://amerjaipur.in. आगम पारीक. मूल से 30 जून 2018 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि २०१५-०९-२५. |website= में बाहरी कड़ी (मदद)
  6. एक तीली से ही रोशन हो जाता है पूरा महल Archived 15 नवम्बर 2017 at the वेबैक मशीन.। पत्रिका।विजय राम। १८ अगस्त, २०१७। अभिगमन तिथि:१४ नवम्बर, २०१७

इन्हें भी देखेंसंपादित करें

बाहरी कड़ियाँसंपादित करें