मा परिवार सेना (पुराना चीना भाषा: 馬家軍, नया चीना भाषा: 马家军, पिनयिन: Mǎ Jiājūn, अंग्रेज़ी: Ma clique) चीन मे योद्धाओं का एक परिवार था। इस परिवार ने चीन के चिंग-है, शिंजांग गांसू और निंग्सिया प्रदेशों में १९१० से १९४९ तक राज किया था।

ज़िबे सान मा का पताका

संगठनसंपादित करें

परिवार में तीन योद्धा सबसे प्रसिद्ध थेः मा बुफ़ांग, मा हांग बिन और मा हांग कुइ। इन तीनों को "ज़िबे सान मा" (उत्तर-पश्चिम के तीन मा) भी कहा जाता है।

युद्धसंपादित करें

ज़िबे सान मा तोह चीन को नियाम किया युद्ध वक्त में। गुओमिनजन का दोस्त था पहले और थोद वक्त के बाद कुओमिनतांग के साथ सन्धीन किया।[1] १९३२ मैं मांगल लोग मैं बदल लिया युद्ध मैं। बुद्धधर्म का मुखिया को खून किया। इस्के बाद युद्ध आया ज़िंजोंग मैं। तुर्कि और हुइ मुस्सल्मान लोग तो संगार्ष किया और हुइ लोग तो विजय लिया। मा परिवार तो ज़िंजिअंग शक्तिसलि बनया १९३६ मैं चेंग कै शेक का राज मैं निंग्सिया पढाइ किया मा चंग यिंग, मा हांग कुइ और मा हांग बिन के साथ। वोह चांग गुओ तओ क .२२ लाख सेना को खून किय पीला रंग नदि मैं।[2]

१९३०-१९४० साऌ मैं मा बुफ़ांग और मा हांग बिन को कोइ युक्ति हुआ और ये भाइ लोग युद्ध किया। कठिन गमन में लाल सेन के साथ युद्ध किया और चीनी जपानी युद्ध मैं जपानि लोग के साथ युद्ध किया। चीन रश्त्रयुद्ध मैं गुओमिंदांग के दोस्त था किन्तु विजय नेहि हुअ और चीनि समयवदि को विजय पाया।

मुखियासंपादित करें

सन्दर्भसंपादित करें

  1. हचिंग्स, ग्रेहम (2001). Modern China. Cambridge: MA: Harvard University Press. ISBN 0-674-01240-2.
  2. The Republic of China warlord cliques discussed Archived 3 मार्च 2016 at the वेबैक मशीन. - 民国军阀派系谈

बाहरी कड़ियाँसंपादित करें