मोती मस्जिद उर्दू: موتی مسجد) मुगल बादशाह शाहजहां द्वारा बनवाई गई मस्जिद है। जो आगरा के लाल किले में स्थित है।

इसी नाम से एक दूसरी मस्जिद लाहौर, पाकिस्तान में भी स्थित है। जो मुगल बादशाह शाहजहाँ द्वारा 1645 में बनवाई गई थी। यह लाहौर का किला में स्थित है।

इसी नाम से तीसरी मस्जिद दिल्ली के लाल किले में मुगल बादशाह औरंगज़ेब द्वारा बनवाई गई थी।

इसी नाम से चौथी मोती मस्जिद दिल्ली के महरौली स्थित ज़फर महल में मुगल सम्राट अकबर शाह (द्वितीय) द्वारा बनवाई गई थी।

इसी नाम से पांचवीं मस्जिद भोपाल रियासत की शासिका सिकंदर जहां बेगम द्वारा बनवाई गई थी।जो भोपाल में स्थित है । सिकंदर जहां बेगम का उपनाम मोती बीबी था। उन्ही के नाम पर मस्जिद का नाम मोती मस्जिद रखा गया।

Galleryसंपादित करें


साँचा:India-struct-stub साँचा:Mosque-stub

Tak ul masajid