मुख्य मेनू खोलें

श्रीनिवास रामानुजन ने सन् १९१६ में एक गणितीय अटकल दिया जिसे रामानुजन् अटकल (Ramanujan conjecture) कहते हैं। इस अटकल के अनुसार १२ भार वाले कस्प फॉर्म के फुरिए गुणांकों से बना रामानुजन टाऊ फलन (Ramanujan's tau function) ]]

(जहाँ q=eiz)

को संतुष्ट करता है।

यहाँ एक अभाज्य संख्या (prime number) है।

सन्दर्भसंपादित करें