राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान, कुरुक्षेत्र

राष्ट्रीय तकनीकी संस्थान, कुरुक्षेत्र, हरियाणा क्षेत्रीय इंजीनियरिंग कालेज, कुरूक्षेत्र की स्थापना १९६३ में की गई थी तथा इसे २६ जून २००२ को राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान, कुरूक्षेत्र के रूप में स्तरोन्नत किया गया था। संस्थान सिविल इंजीनियरिंग, इलैक्ट्रीकल इंजीनियरिंग, मैकेनिकल इंजीनियरिंग, इलैक्ट्रॅनिक्स तथा संचार इंजीनियरिंग, औद्योगिक इंजीनियरिंग, सूचना प्रौद्योगिकी तथा कम्प्यूटर इंजीनियरिंग जैसे विषयों में ७ अवर स्नातक पाठयक्रम संचालित करता है। संस्थान इन विषयों में स्नातकोत्तर पाठयक्रम भी संचालित करता है। संस्थान के पास सुविकसित कैंपस तथा फाइबर ऑपटिक के माध्यम से कम्प्यूटर नेटवर्किंग भी है।[1]

राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान, कुरुक्षेत्र
National Institute of Technology, Kurukshetra
राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान, कुरुक्षेत्र
चित्र:Kurukshetra National Institute of Technology Logo.jpg
अन्य नाम
एन आई टी कुरुक्षेत्र
पूर्व नाम
क्षेत्रीय इंजीनियरी महाविद्यालय, कुरुक्षेत्र
ध्येयश्रमोऽनवरत चेष्टा चा
(श्रम और अनवरत चेष्टा)
प्रकारसार्वजनिक
स्थापित1963
निदेशकडॉ॰ सतीश कुमार
स्नातक3600
परास्नातक1200
स्थानकुरुक्षेत्र, हरियाणा, भारत
परिसरउपनगरीय, 300 एकड़ (1.2 कि॰मी2)
जालस्थलwww.nitkkr.ac.in

सन्दर्भसंपादित करें

  1. "राष्ट्रीय तकनीकी संस्थान, कुरुक्षेत्र". संस्थान का आधिकारिक जालस्थल. अभिगमन तिथि ४ मई २००९. |access-date= में तिथि प्राचल का मान जाँचें (मदद)