राष्ट्रीय मूल्यांकन एवं प्रत्यायन परिषद

राष्ट्रीय मूल्यांकन एवं प्रत्यायन परिषद (अंग्रेज़ी: National Assessment and Accreditation Council) (NAAC, नैक) एक संस्थान है जो भारत के उच्च शिक्षा, अन्य शिक्षा संस्थानों का आकलन तथा प्रत्यायन (मान्यता) का कार्य करती है। इसकी स्थापना १९९४ में की गयी थी।

राष्ट्रीय मूल्यांकन एवं प्रत्यायन परिषद
National Assessment and Accreditation Council
नैक लोगो
नैक लोगो
संस्था अवलोकन
स्थापना 1994
अधिकार क्षेत्र भारत सरकार (केंद्र सरकार)
मुख्यालय बंगलौर
संस्था कार्यपालक प्रो॰ एस. सी. शर्मा, निर्देशक
वेबसाइट
www.naac.gov.in

परिचयसंपादित करें

मूल्यांकन एवं प्रत्यायन को मूलतः किसी भी शैक्षिक संस्था की ‘गुणवत्ता की स्थिति’ को समझने के लिए प्रयोग किया जाता है। वास्तव में यह मूल्यांकन यह निर्धारित करता है कि कोई भी शैक्षिक संस्था या विश्वविद्‌यालय प्रमाणन एजेंसी के द्‌वारा निर्धारित गुणवत्ता के मानकों को किस स्तर तक पूरा कर रहा है।

गुणवत्ता के मानदंडसंपादित करें

शैक्षिक प्रक्रियाओं में संस्था का प्रदर्शन, पाठ्यक्रम चयन एवं कार्यान्वयन, शिक्षण अधिगम एवं मूल्यांकन तथा छात्रों के परिणाम, संकाय सदस्यों का अनुसंधान कार्य एवं प्रकाशन, बुनियादी सुविधाएँ तथा संसाधनों की स्थिति, संगठन, प्रशासन व्यवस्था, आर्थिक स्थिति तथा छात्र सेवाएँ इत्यादि।[1]

सन्दर्भसंपादित करें

  1. Assessment and Accreditation Archived 24 अप्रैल 2015 at the वेबैक मशीन. (NAAC)

इन्हें भी देखेंसंपादित करें

बाहरी कड़ियाँसंपादित करें