रिमो मुज़ताग़

पर्वत की श्रखला

रिमो मुज़ताग़ (Rimo Muztagh) भारत के जम्मू और कश्मीर राज्य के लद्दाख़ क्षेत्र में स्थित एक पर्वतमाला है, जो महान काराकोरम पर्वतमाला की एक उपश्रेणी है।

रिमो मुज़ताग़
Rimo Muztagh
रिमो मुज़ताग़ की कश्मीर के मानचित्र पर अवस्थिति
रिमो मुज़ताग़
रिमो मुज़ताग़
जम्मू और कश्मीर में स्थिति
उच्चतम बिंदु
शिखरमामोस्तोंग कांगरी,
ऊँचाई7,516 मी॰ (24,659 फीट)
निर्देशांक35°08′27″N 77°34′39″E / 35.14083°N 77.57750°E / 35.14083; 77.57750निर्देशांक: 35°08′27″N 77°34′39″E / 35.14083°N 77.57750°E / 35.14083; 77.57750
भूगोल
मातृ श्रेणीकाराकोरम

भूगोलसंपादित करें

रिमो मुज़ताग़ का उत्तरी अर्धभाग सियाचिन हिमानी क्षेत्र में आता है। इसके उत्तर में रिमो हिमानी (जो श्योक नदी के ऊपरी भाग को जल प्रदान करती है) और तेरम शहर हिमानी (जो सियाचिन हिमानी में विलय होती है) हैं। उत्तर में सियाचिन मुज़ताग़ का पूर्वी छोर भी है। पूर्वोत्तर में रिमो पर्वतमाला और काराकोरम दर्रा हैं। पूर्व में श्योक नदी इसे देपसंग मैदान से अलग करती है। दक्षिणपूर्व में ससेर ला नामक पहाड़ी दर्रा इसे ससेर मुज़ताग़ नामक श्रेणी से अलग करता है।[1][2]

कुछ मुख्य पर्वतसंपादित करें

यह रिमो मुज़ताग़ के उन पर्वतों की सूची है, जो 7,200 मीटर से ऊँचे हैं और 500 मीटर से अधिक की स्थलाकृतिक उदग्रता रखते हैं। इस से कम उदग्रता रखने वाले शिखर स्वतंत्र पर्वत नहीं माने जाते बल्कि आसपास के अन्य पर्वतों के ही शिखर माने जाते हैं (पर्वतों के कई शिखर हो सकते हैं)।

पर्वत ऊँचाई (मीटर) ऊँचाई (फ़ुट) निर्देशांक उदग्रता (मीटर) मातृपर्वत प्रथम आरोहण आरोहण संख्या (प्रयास)
मामोस्तोंग कांगरी 7,516 24,659 35°08′27″N 77°34′39″E / 35.14083°N 77.57750°E / 35.14083; 77.57750 1,803 गाशरब्रुम १ 1984 5 (0)
रिमो १ 7,385 24,229 35°21′21″N 77°22′05″E / 35.35583°N 77.36806°E / 35.35583; 77.36806 1,438 तेरम कांगरी १ 1988 1 (3)
रिमो ३ 7,233 23,730 35°22′29″N 77°21′42″E / 35.37472°N 77.36167°E / 35.37472; 77.36167 615 रिमो १ 1985 1 (0)

अन्य पर्वतसंपादित करें

यह कुछ अन्य उल्लेखनीय पर्वत हैं:

  • चोंग कुम्दंग री १, 7,071 मीटर
  • स्क्यामपोचे री १ / अग ताश १, 7,016 m
  • चोंग कुम्दंग री २, 7,004 m

इन्हें भी देखेंसंपादित करें

सन्दर्भसंपादित करें

  1. Jerzy Wala, Orographical Sketch Map of the Karakoram, Swiss Foundation for Alpine Research, Zurich, 1990.
  2. Jill Neate, High Asia: an illustrated history of the 7,000 metre peaks, The Mountaineers, 1989.