रेखा भारद्वाज एक विख्यात भारतीय पार्श्वगायिका हैं। वे बॉलीवुड में अपने अनूठे लहज़े, गायन शैली एवं गीतों के चुनाव के लिए जानी जाती हैं।[1] उन्होंने एक पाकिस्तानी धारावाहिक हमनशीं के लिए एक गाना "कभी आशना कभी अजनबी" रिकॉर्ड किया था जिसके लिए उन्हें "हम अवार्ड फॉर बेस्ट ओरिजिनल साउंडट्रैक" के लिए मनोनीत किया गया था। भारद्वाज ने फ़िल्मी उद्योग में खुद को एक सफ़ल गायिका के तौर पर स्थापित किया है। उन्हें अब तक दो फ़िल्मफ़ेयर पुरस्कार और एक राष्ट्रीय फ़िल्म पुरस्कार मिल चुके हैं।

रेखा भारद्वाज
just had big soulful performance at coke studio with kirtidan gadhavi a song ladki under the direction of music director sachin-jigar
रेखा भारद्वाज फ़ीनिक्स मार्केटसिटी, बंगलौर के "अलाइव इंडिया इन कॉन्सर्ट (सीजन २)" में प्रदर्शन करते हुए
पृष्ठभूमि
विधायेंफ़िल्मी, हिन्दुस्तानी शास्त्रीय संगीत, ग़ज़ल
पेशागायक
सक्रियता वर्ष1997–वर्तमान
जीवनसाथीविशाल भारद्वाज

सन्दर्भसंपादित करें

  1. सुप्रिया सोगले (२ मई २०१४). "बोलती बंद हो जाती है गुलज़ार के सामने: रेखा भारद्वाज". बीबीसी हिंदी. मूल से 15 फ़रवरी 2017 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि १५ फरवरी २०१७.