लव मैरिज (1959 फ़िल्म)

1959 की सुबोध मुखर्जी की फ़िल्म

लव मैरिज 1959 में बनी हिन्दी भाषा की फिल्म है। यह सुबोध मुखर्जी द्वारा निर्देशित है।[1] फिल्म में देव आनन्द और माला सिन्हा हैं। संगीत शंकर-जयकिशन का है।

लव मैरिज
लव मैरिज (1959).jpg
लव मैरिज का पोस्टर
निर्देशक सुबोध मुखर्जी
निर्माता सुबोध मुखर्जी
अभिनेता देव आनन्द,
माला सिन्हा
संगीतकार शंकर-जयकिशन
प्रदर्शन तिथि(याँ) 1959
देश भारत
भाषा हिन्दी

संक्षेपसंपादित करें

सुनील कुमार (देव आनन्द) शहर के एक कमरे में किराए पर रहता है, जहां उसे घरेलू टीम के लिए क्रिकेट खेलना है। वह मकान मालिक की बेटी (माला सिन्हा) से मिलता है, जो उसे तुरंत नापसंद करती है। लेकिन उसे क्रिकेट खेलते देखने के बाद, उसे उससे प्यार हो जाता है और दोनों शादी करने का फैसला करते हैं।

शादी के बाद दोनों फिर से कहीं और बसने का फैसला करते हैं और ऐसा करते हैं। कुछ समय के लिए वह लोग सामंजस्यपूर्ण तरीके से रहते हैं लेकिन बाद में मतभेद पैदा होने लगते है और उनकी "लव मैरिज" टूटने के कगार पर होती है।

मुख्य कलाकारसंपादित करें

संगीतसंपादित करें

सभी शंकर-जयकिशन द्वारा संगीतबद्ध।

क्र॰शीर्षकगीतकारगायकअवधि
1."टीन कनस्तर पीट पीट कर"शैलेन्द्रमोहम्मद रफ़ी5:38
2."दिल से दिल टकराये"शैलेन्द्रगीता दत्त, मोहम्मद रफ़ी3:53
3."हम जान गये सरकार"हसरत जयपुरीलता मंगेशकर4:00
4."करीब आओ ना तड़पाओ"शैलेन्द्रगीता दत्त4:02
5."धीरे धीरे चल चाँद गगन में"हसरत जयपुरीमोहम्मद रफ़ी, लता मंगेशकर4:19
6."कहे झूम झूम रात ये सुहानी"शैलेन्द्रलता मंगेशकर4:26
7."कहाँ जा रहे थे"शैलेन्द्रमोहम्मद रफ़ी4:30
8."शी ने खेला ही से आज क्रिकेट"हसरत जयपुरीमोहम्मद रफ़ी4:36

सन्दर्भसंपादित करें

  1. "ये है क्रिकेट पर बनी पहली हिंदी फिल्म! इन 10 फिल्मों को भी खूब मिली है चर्चा". आज तक. अभिगमन तिथि 28 दिसम्बर 2019.

बाहरी कड़ियाँसंपादित करें