मुख्य मेनू खोलें

लिमाह रोबेर्ता गबोवी (जन्म १ फ़रवरी १९७२) लाइबेरिया की शांति कार्यकर्ता हैं। इन्हें २०११ में नोबेल शांति पुरस्कार से सम्मानित किया है। ये पुरस्कार उन्होंने लाइबेरिया की राष्ट्रपति एलेन जानसन सरलीफ और यमन की महिला अधिकार कार्यकर्ता तवाकुल करमान के साथ सांझा किया। उन्होंने महिलाओं के शांति आंदोलन का नेतृत्व किया है जिस कारण २००३ में द्वितीय लाइबेरियन गृहयुद्ध का अंत करने में मदद हुई। इस आंदोलन में एलेन सरलीफ ने भी महत्वपूर्ण भूमिका निभाई और २००५ में लाइबेरिया में मुफ्त चुनाव सक्षम हो सका जिसमें सरलीफ जीती और राष्ट्रपति बनी।

लिमाह रोबेर्ता गबोवी
Leymah-gbowee-at-emu-press-conference.jpg
२०११ में लिमाह रोबेर्ता गबोवी
जन्म 1 फ़रवरी 1972 (1972-02-01) (आयु 47)
मध्य लाइबेरिया
धार्मिक मान्यता ईसाई (लुथेरनवाद)
पुरस्कार नोबेल शांति पुरस्कार (२०११)

सन्दर्भसंपादित करें