लाइबेरिया, आधिकारिक तौर पर लाइबेरिया गणराज्य, अफ़्रीका के पश्चिमी तट पर स्थित एक देश है, जिसकी सीमाएं सियरा लिओन, गिनी, कोट द आइवोर और प्रशांत महासागर से मिलती है।

लाइबेरिया
लाइबेरिया गणराज्य
लाइबेरिया का कुलचिह्न
ध्वज कुल चिह्न
राष्ट्रवाक्य: "स्वाधीनता की चाहत लाई है यहां हमें"
राष्ट्रगान: All Hail, Liberia, Hail!
राजधानी
और सबसे बडा़ नगर
मोनरोविया
6°19′N 10°48′W / 6.317°N 10.800°W / 6.317; -10.800
राजभाषा(एँ) अंग्रेजी
निवासी लाइबेरियाई
सरकार गणराज्य
 -  राष्ट्रपति एलन जॉनसन-सिरलिफ
 -  उप राष्ट्रपति जोसेफ बोकाई
 -  मुख्य न्यायधीश जॉनी लेविस
गठन अफ्रीकी-अमेरिकी से
 -  अमेरिकन कोलोनाइजेशन सोसायटी की कालोनी एकीकरण 1821-1842 
 -  स्वतंत्रता (संयुक्त राज्य अमेरिका से) 26 जुलाई 1847 
क्षेत्रफल
 -  कुल 111,369 km2 (103 वां)
 -  जल (%) 13.514
जनसंख्या
 -  2009 जनगणना 3,955,000 (-)
 -  2008 जनगणना 3,476,608 (130 वां)
सकल घरेलू उत्पाद (पीपीपी) 2008 प्राक्कलन
 -  कुल $1.471 बिलियन (-)
 -  प्रति व्यक्ति $373 (-)
मानव विकास सूचकांक (2013)Steady 0.412[1]
निम्न · 175वाँ
मुद्रा लाइबेरियाई डॉलर1 (LRD)
समय मण्डल जीएमटी
 -  ग्रीष्मकालीन (दि॰ब॰स॰) आकलन नहीं (यू॰टी॰सी॰)
यातायात चालन दिशा right
दूरभाष कूट 231
इंटरनेट टीएलडी .lr
1 अमेरिकी डॉलर भी इस्तेमाल में

लाइबेरिया का मौसम ऊष्णकटिबंधीय है, जहां ज्यादातर वर्षा ग्रीष्म ऋतु के दौरान होती है। लाइबेरिया का ज्यादा बसाहट वाला पीपर कोस्ट मेंग्रोव फारेस्ट से बना हुआ है, जबकि अंदरुनी कम बसाहट वाला क्षेत्र वनक्षेत्र है, आगे जाकर नज़र आने वाला पठारी क्षेत्र घास का मैदान है।

लाइबेरिया का इतिहास संयुक्त राज्य अमेरिका से जुड़ाव की वजह से अन्य अफ्रीकी देशों से जुदा है। यह उन गिने-चुने देशों में और पश्चिमी अफ्रीका के इकलौता देश है, जिसके मूल में कोई यूरोपीय देश नहीं है। 1821-22 में अमेरिकन कालोनाइजेशन सोसायटी द्वारा स्थापित एक बस्ती के रूप में यहां संयुक्त राज्य में छुड़ाए गए दासों को लाकर रखा जाता था, इस उम्मीद से कि यहां उन्हें ज्यादा स्वतंत्रता और समानता मिलेगी।

इन मुक्त दासों ने एक प्रबुद्ध समाज बनाकर 1847 में लाइबेरिया गणराज्य का गठन किया और संयुक्त राज्य अमेरिका की तर्ज पर सरकार बनाई। अमेरिका के पांचवें राष्ट्रपति जेम्स मोनरोई के नाम पर राजधानी मोनरोई बनाई।

1980 में सेना ने तख्ता पलट कर राष्ट्रपति विलियम आर. टालबोर्ट को पद से हटा दिया। इसके साथ ही अस्थिरता का दौर शुरू हुआ, जो बाद में गृहयुद्ध में तब्दील हो गया, जिसमें हजारों-लाखों लोगों को जहां जान गंवानी पड़ी, वहीं देश की अर्थव्यवस्था बर्बादी के कगार पर पहुंच गई। आज लाइबेरिया गृहयुद्ध और आर्थिक अव्यवस्था से उबरने का प्रयास कर रहा है। लाइबेरिया के राष्ट्रपति

  1. "2014 Human Development Report Summary" (PDF). संयुक्त राष्ट्र विकास कार्यक्रम. 2014. पपृ॰ 21–25. मूल से 29 जुलाई 2016 को पुरालेखित (PDF). अभिगमन तिथि 27 जुलाई 2014.