वल्लिकण्णन तमिल भाषा के विख्यात साहित्यकार हैं। इनके द्वारा रचित एक समालोचना पुदुकवितयिन तोट्ट्रमुम् वलर्चियुम के लिये उन्हें सन् 1978 में साहित्य अकादमी पुरस्कार से सम्मानित किया गया।[1]

रा सु क्रिश्नस्वामि
उपनाम वल्लिकण्णन
व्यवसाय साहित्यकार
राष्ट्रीयता भारतीय
उल्लेखनीय सम्मान साहित्य अकादमी पुरस्कार से सम्मानित (1978)
हस्ताक्षर Vallikannan signature.jpg

सन्दर्भसंपादित करें

  1. "अकादमी पुरस्कार". साहित्य अकादमी. मूल से 15 सितंबर 2016 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 11 सितंबर 2016.