वस्त्रों की धुलाई या वस्त्र-धावन प्राचीन काल से चला आ रहा है। भारत में पारम्परिक रूप से यह कार्य धोबी करते थे। अब धुलाई की मशीनें भी इस कार्य में सहायक हैं।

धुले हुए वस्त्र सूखने के लिये पसारे गये हैं

इन्हें भी देखेंसंपादित करें

बाहरी कड़ियाँसंपादित करें