मुख्य मेनू खोलें

वाष्पन की पूर्ण ऊष्मा या वाष्पन की एन्थैल्पी (enthalpy of vaporization ; प्रतीक ∆Hvap) ऊर्जा की वह मात्रा है जो द्रव के इकाई मात्रा को गैस में बदलने के लिये आवश्यक होती है। इसे वाष्पन की गुप्त ऊष्मा भी कहते हैं। वाष्पन की एन्थैल्पी, उस दाब पर भी निर्भर करती है जिस पर यह अवस्था परिवर्तन किया जाता है।

कुछ प्रमुख पदार्थों की वाष्पन एन्थाल्पीसंपादित करें

नीचे की सारणी में कुछ सामान्य पदार्थों की पूर्ण-ऊष्मा उनके मानक क्वथनांक पर दी गयी है-

यौगिक सामान्य दाब पर क्वथनांक वाष्पन की ऊष्मा
(J mol−1)
वाष्पन की ऊष्मा
(J g−1)
एसीटोना 329 K, 56 °C, 133 °F 31300 538.9
अलुमिनियम 2792 K, 2519 °C, 4566 °F 294000 10500
अमोनिया 240 K, −33.34 °C, −28 °F 23350 1371
ब्यूटेन 272–274 K, −1 °C, 30–34 °F 21000 320
डाई एथिल ईथर 307.8 K, 34.6 °C, 94.3 °F 26170 353.1
एथनॉल 352 K, 78.37 °C, 173 °F 38600 841
हाइड्रोजन 20.271 K, -252.879 °C, -423.182 °F 460[संदिग्ध] 451.9
लोहा 3134 K, 2862 °C, 5182 °F 340000 6090
आइसोप्रोपिल अल्कोहल् 356 K, 82.6 °C, 181 °F 44000 732.2
मिथेन 112 K, −161 °C, −259 °F 8170 480.6
मेथनॉल 338 K, 64.7 °C, 148 °F 35200[1] 1104
प्रोपेन 231 K,-42 °C, −44 °F 15700 356
फॉस्फीन 185 K, −87.7 °C, −126 °F 14600 429.4
जल 373.15 K, 100 °C, 212 °F 40660 2257
  1. NIST