विदर छिद्र

रेखाकार ज्वलामुखी संबंधी छिद्र जिससे रजक फूटता है

विदर छिद्र (fissure vent) या ज्वालामुखीय विदर (volcanic fissure) लगभग एक रेखा के आकार का ज्वालामुखीय छिद्र होता है जिसमें से पृथ्वी के भीतर से लावा उगला जाता है। इसमें और ज्वालामुखी में एक बड़ा अंतर यह है कि विदर छिद्र से लावा बिना किसी विस्फोट के निकलता है। विदर छिद्र के रेखा-मुख कुछ मीटर से लेकर कुछ किलोमीटर लम्बा हो सकता है। विदर छिद्रों से बाढ़ बेसाल्ट बनता है जो पहले तो लावा नहरों में और फिर लावा ट्यूबों में चलता है।[1]

एक विदर छिद्र और उसे से नीचे बहती एक लावा नहर

इन्हें भी देखेंसंपादित करें

सन्दर्भसंपादित करें

  1. "V. Camp, Dept. of Geologic Sciences, Univ. of San Diego: How volcanoes work. Eruption types. Fissure eruptions". मूल से 28 फ़रवरी 2018 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 18 मार्च 2017.