विजयवाड़ा विमानक्षेत्र भारत के आंध्र प्रदेश राज्य में स्थित, विजयवाड़ा शहर जो कि आंध्र प्रदेश की राजधानी भी है को सेवा प्रदान करता है। इसका IATA कोड है: VGA और ICAO कोड है: VOBZ।[3] यह एक अंतर्राष्ट्रीय नागरिक हवाई अड्डा है।[4][5] इसकी रन-वे की लंबाई 3360 मीटर (11020) फुट है। यह हवाई अड्डा विजयवाड़ा के गन्नवरम में स्थित है,जो कि राष्ट्रीय राजमार्ग 16 के निकट अवस्थित है यह राजमार्ग चेन्नई से कोलकाता को जोड़ती है।

विजयवाड़ा हवाई अड्डा
Vijayawada Airport 5 (November 2018).jpg
विजयवाड़ा हवाई अड्डा
विवरण
विमानक्षेत्र प्रकारसार्वजनिक
स्वामीAAI
संचालनकर्ताभारतीय विमानपत्तन प्राधिकरण
सेवाएँ (नगर)आंध्र प्रदेश राजधानी क्षेत्र
स्थितिगन्नवरम, आंध्र प्रदेश भारत
समुद्र तल से ऊँचाई82 फ़ीट / 25 मी॰
निर्देशांक16°31′44″N 80°47′45″E / 16.52889°N 80.79583°E / 16.52889; 80.79583निर्देशांक: 16°31′44″N 80°47′45″E / 16.52889°N 80.79583°E / 16.52889; 80.79583
वेबसाइटwww.aai.aero
मानचित्र
VGA की आन्ध्र प्रदेश के मानचित्र पर अवस्थिति
VGA
VGA
VGA की भारत के मानचित्र पर अवस्थिति
VGA
VGA
उड़ानपट्टियाँ
दिशा लम्बाई सतह
फ़ीट मी॰
08/26 11,000 3,360 Asphalt
सांख्यिकी (Apr 2018– Mar 2019)
Passenger movements1.
Aircraft movements22.
Name board at airport


इतिहाससंपादित करें

गन्नवरम स्थित हवाई क्षेत्र द्वितीय विश्व युद्ध के दौरान एक सेन्य अड्डे के रूप में कार्य करता था, जिसे बाद में एक नागरिक हवाई अड्डे में परिवर्तित कर दिया गया था। पहली बार एयर डेक्कन ने हैदराबाद और विजयवाड़ा के बीच सितंबर 2003 में एक दैनिक सेवा शुरू की।[6] 2011 तक, इस हवाई अड्डे पर केवल एक दिन में चार उड़ानें थीं जो किंगफिशर एयरलाइंस द्वारा संचालित की जाती थी।[7] 2011 में, एयर इंडिया और कुछ निजी एयरलाइंस स्पाइसजेट और जेट एयरवेज ने इस हवाई अड्डे के लिए सीधी उड़ानें शुरू कीं, लेकिन बाद में जेट एयरवेज ने इसकी सेवा समाप्त कर दी। एक क्षेत्रीय एयरलाइन एयर कोस्टा ने अक्टूबर 2013 में विजयवाड़ा से अपनी परिचालन सेवा शुरू किया लेकिन, जिसने बाद में सेवाओं को निलंबित कर दिया।

बढ़ते हुए यात्री यातायात को पूरा करने के लिए, अक्टूबर 2015 में एक नए अंतरिम टर्मिनल भवन की नींव रखी गई थी।[8] 12 जनवरी 2017 को खोला गया यह टर्मिनल, जिसे प्रति वर्ष 20 लाख यात्रियों को संभालने के लिए डिज़ाइन किया गया था। यह टर्मिनल अगले चार-पाँच वर्षों तक के लिए यात्री आवश्यकताओं की पूर्ति लिए पर्याप्त होने की उम्मीद थी जब तक कि दुसरा बड़ा टर्मिनल नहीं बन जाता।[9] घरेलू सेवाओं को अंतरिम टर्मिनल में स्थानांतरित करने के बाद, इस पुराने हवाई अड्डे के टर्मिनल भवन को बंद कर दिया गया था और इसे अंतरराष्ट्रीय सेवाओं को संभालने के लिए तैयार किया गया था। इस टर्मिनल में एक सीमा शुल्क और आप्रवासन विभाग के अलावा अतिरिक्त सुविधाओं और सुरक्षा व्यवस्था से सुसज्जित था। [10]

बाहरी लिंकसंपादित करें

सन्दर्भसंपादित करें

  1. "Traffic News for the month of March 2018: Annexure-III" (PDF). Airports Authority of India. पृ॰ 2. मूल (PDF) से 4 फ़रवरी 2017 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 5 मई 2018.
  2. "Traffic News for the month of March 2018: Annexure-II" (PDF). Airports Authority of India. पृ॰ 2. अभिगमन तिथि 5 May 2018.
  3. Dangwal, Sandhya (2017-05-04). "Vijayawada Airport upgraded as international airport; to improve connectivity, cargo movement". India.com (अंग्रेज़ी में). अभिगमन तिथि 2017-05-09.
  4. Sarma, Ch. R. S. (12 January 2017). "Gannavaram airport named after Amaravati". The Hindu Business Line. अभिगमन तिथि 15 January 2017.
  5. "PM to inaugurate new terminal building at Vijayawada airport on January 12". The New Indian Express. अभिगमन तिथि 15 January 2017.
  6. "One more flight for Vijayawada". The Hindu. 23 November 2005. अभिगमन तिथि 18 September 2014.
  7. "Another pvt airliner to operate from Gannavaram". Times of India. अभिगमन तिथि 14 March 2011.
  8. "Foundation stone of Vijayawada airport's new terminal laid". The Economic Times. 19 October 2015. अभिगमन तिथि 12 January 2017.
  9. "Naidu opens new transit terminal at Vijayawada airport". Deccan Chronicle. 12 January 2017. अभिगमन तिथि 5 October 2019.
  10. "Old airport terminal readying for international operations". The Hindu. 24 June 2017. अभिगमन तिथि 5 October 2019.