"रूनी लिपि" के अवतरणों में अंतर

71 बैट्स् नीकाले गए ,  9 वर्ष पहले
छो
वर्तनी
(infobox)
छो (वर्तनी)
{{Infobox writing system
|name=रूनी
|type=वर्णाक्षर
|languages=[[जर्मैनी भाषाएँ]]
|imagesize=150px
}}
'''रूनी वर्णमालाएँ''' (<small>[[अंग्रेज़ी]]: Runic alphabets, रूनिक ऐल्फ़ाबॅट्स</small>) प्राचीनकालीन [[यूरोप]] में कुछ [[जर्मैनी भाषाओँभाषाओं]] के लिए इस्तेमाल होने वाली [[वर्णमालाओं]] को कहा जाता था जो 'रून' (<small>rune</small>) नामक [[अक्षर]] प्रयोग करती थीं। समय के साथ जैसे-जैसे यूरोप में ईसाईकरण हुआ और [[लातिनी भाषा]] धार्मिक भाषा बन गई तो इन भाषाओँभाषाओं ने [[रोमन लिपि]] को अपना लिया और रूनी लिपियों का प्रयोग घटता गया। [[स्कैंडिनेविया]] में इस्तेमाल होने वाली रूनी लिपियों को '''फ़ुथ़ार्क''' (<small>futhark या fuþark</small>) कहा जाता था क्योंकि इनके पहले छह अक्षरों किकी ध्वनियाँ 'फ़' (<small>F</small>), 'उ' (<small>U</small>), 'थ़' (<small>Þ</small>), 'अ' (<small>A</small>), 'र' (<small>R</small>) और 'क' (<small>K</small>) थीं। इसमें [[थ़|'थ़' कि ध्वनि]] पर ध्यान दें क्योंकि यह बिना बिंदु वाले 'थ' से ज़रा अलग है। [[पुरानी अंग्रेज़ी]] में कुछ ध्वनियाँ बदल जाने से इन वर्णमालाओं को '''फ़ुथ़ोर्क''' (<small>futhorc या fuþorc</small>) कहा जाता था।<ref name="ref78pafaj">[http://books.google.com/books?id=95auK-lRiDgC The Spiritual Runes: A Guide to the Ancestral Wisdom], Harmonia Saille, O Books, 2009, ISBN 9781846942013, ''... The Elder Futhark is the oldest rune row and is thought to have come into use in about 100 CE. It is this Futhark that we will be discussing throughout this book. The name “Futhark” is taken from the initial six runes ...''</ref>
 
सबसे प्राचीन रूनी लिखाईयाँ सन् 150 ईसवी के आसपास शिलाओं पर मिलती हैं। जैसे-जैसे [[इसाईईसाई धर्म]] फैला उत्तरी यूरोप की यह प्राचीन लिपियाँ मरती गई। 700 ईसवी तक यह मध्य यूरोप में ख़त्म हो चुकी थीं और 1100 ईसवी तक यह उत्तरी यूरोप में समाप्त हो गई। फिर भी जहाँ-तहाँ इनका प्रयोग जारी रहा, जैसे कि तस्वीरों में सजावट के लिए या [[कैलेंडरों]] पर।
 
==विवरण==
रूनी लिपियाँ [[देवनागरी]] और रोमन लिपि कि तरह बाएँ से दाएँ लिखी जाती थीं। समझा जाता है कि ये पुरानी इतालवी लिपियों से [[इटली]] क्षेत्र से उत्तर की ओर फैलीं। यह तीन रूनी वर्णमालाएँ थीं जिनपर सब से अधिक भाषावैज्ञानिक जानकारी है -<ref name="ref32ferox">[http://books.google.com/books?id=V3sCCLcsJFkC Northern Lore], Eoghan Odinsson, Eoghan Odinsson, 2010, ISBN 9781452851433, ''... The Elder Futhark is the oldest form of the runic row, used by Germanic tribes for Northwest Germanic and Migration period ... In Scandinavia, the script was simplified to the Younger Futhark from the late 8th century ...''</ref>
*'''वृद्ध फ़ुथ़ार्क''' (<small>ऍल्डर फ़ुथ़ार्क, Elder Futhark</small>) - यह उत्तरपश्चिमी जर्मैनी भाषाओँभाषाओं के लिए 150–800 ईसवी काल में इस्तेमाल होती थी।
*'''ऐंग्लो-सैक्सन फ़ुथ़ार्क''' (<small>ऐंग्लो-सैक्सन फ़ुथ़ार्क, Anglo-Saxon Futhark</small>) - यह [[ऐंग्लो-सैक्सन]] लोगों द्वारा [[पुरानी अंग्रेज़ी]] लिखने के लिए 400–1100 ईसवी काल में प्रयोग होती थी। इसे कभी-कभी [[लातिनी भाषा]] लिखने के लिए भी इस्तेमाल किया जाता था।
*'''युवा फ़ुथ़ार्क''' (<small>यंगर फ़ुथ़ार्क, Younger Futhark</small>) - यह [[स्कैंडिनेविया]] क्षेत्र में पुरानी नॉर्स भाषा लिखने के लिए 800–1100 ईसवी काल में प्रयोग होती थी। इस लिपि से आगे चलकर और रूनी लिपियाँ उत्पन्न हुई। इसेइस लिपि को मारने के लिए इसाईईसाई चर्च ने सन् 1639 में इसका प्रयोग वर्जित कर दिया।<ref name="ref21ragad">[http://books.google.com/books?id=BqTvUyQVUfIC Runes for Transformation: Using Ancient Symbols to Change Your LifeDivination Series], Kaedrich Olsen, Weiser Books, 2008, ISBN 9781578634255, ''... The Younger Futhark was used in Scandinavia from about 500 CE until 1639 CE, when it was banned by the church ...''</ref>
 
==इन्हें भी देखें==
24,319

सम्पादन