"जयगोपाल" के अवतरणों में अंतर

182 बैट्स् जोड़े गए ,  4 वर्ष पहले
छो
दिल्ली असेंबली बम कांड तथा [[लाहौर षड्यंत्र केस]] (साण्डर्स वध केस) की सुनवाई के समय ये अंग्रेजी हुकूमत के दवाव में आ गये, तथा HSRA के क्रान्तिकारियो के खिलाफ सरकारी गवाह बन गये। भगत सिंह को फाँसी दिये जाने के पीछे इनकी गवाही की ही भूमिका थी।
 
[[श्रेणी:आधुनिक भारत का इतिहास]]
{{Uncategorized|date=मई 2016}}
[[श्रेणी:स्वतंत्रता संग्राम]]
[[श्रेणी:क्रान्तिकारी]]