मुख्य मेनू खोलें

सदस्य वार्ता:SM7



यह एक सदस्य वार्ता पन्ना है।
कृपया अपने सन्देश के बाद चार टिल्ड (~~~~) टाइप करके अपना हस्ताक्षर करना न भूलें।
यहाँ क्लिक करके नया सन्देश लिखें

अनुक्रम

2018 केरल बाढ़ लेख में चार्ट का प्रयोगसंपादित करें

नमस्कार! ऊपर लिखित लेख के वर्षापात आँकड़े खण्ड में एक चार्ट का प्रयोग हुआ है, जो शायद ऋणात्मक आंकड़ो को पढ़ नहीं पा रहा तथा उस स्थान पर कुछ भी नहीं दिखा रहा। जबकि अंग्रेजी पृष्ठ में यह समस्या नहीं है। मुझे समझ नहीं आया इसे कैसे सही करना है। इसलिये आप से अनुरोध है कि इस समस्या को सही करें। धन्यवाद!-- गॉड्रिक की कोठरीमुझसे बातचीत करें 09:54, 19 अगस्त 2018 (UTC)

@Godric ki Kothri: Module:Chart पुराना पड़ गया था, अंग्रेजी से कॉपी करके अद्यतन करने से समस्या ठीक हो गयी है। --SM7--बातचीत-- 10:23, 19 अगस्त 2018 (UTC)

Javascript warnings due to ShortUrlShareसंपादित करें

Hello.

I am seeing the following warnings in the console on Google Chrome originating from the ShortUrlShare gadget:

  • Use of "wgServer" is deprecated. Use mw.config instead.
  • Use of "wgPageName" is deprecated. Use mw.config instead.
  • Use of "wgTitle" is deprecated. Use mw.config instead.

Kindly look into the issue। Best regards--सिद्धार्थ घई (वार्ता) 04:46, 25 अगस्त 2018 (UTC)

@: जी, कृपया इसे देखकर सूचित करें। --SM7--बातचीत-- 04:56, 25 अगस्त 2018 (UTC)
done.--सिद्धार्थ घई (वार्ता) 08:36, 9 सितंबर 2018 (UTC)

आपके हहेच नामांकनसंपादित करें

नमस्ते @SM7: जी,
आपने हाल ही में कुछ शीह नामांकन किये हैं। पृष्ठ देखकर लग रहा है कि आपने पुरालेख के वार्तापृष्ठ पन्नों को पुरालेख का खालीपृष्ठ समझकर नामांकन किया है। कारण में खाली पृष्ठ के साथ अनावश्यक और खाली पुरालेख पन्ने; जब आवश्यकता हो तभी बनायें लिखा है जब कि ये पुरालेख के पृष्ठ नहीं है परंतु वार्तापृष्ठ है। वैसे पुरालेख के वार्तापृष्ठ में चर्चा की कभी आवश्यकता नहीं पड़ती ऐसा देखा गया है। हटाने में कोई आपत्ति नहीं है और रखने में भी कोई आपत्ति नहीं है। शीह की श्रेणी में केवल वहीं पृष्ठ आते हैं जिसे शीघ्रता से हटाने की आवश्यकता हो। इस विषय में ऐसा नहीं है अतः छोटी सी चर्चा के आधार पर इन सभी पृष्ठों को हटा देना बेहतर होगा।--आर्यावर्त (वार्ता) 04:03, 4 सितंबर 2018 (UTC)

नमस्ते आर्यावर्त जी, पुरालेखों के वार्ता पन्ने नहीं उन्हें वार्ता पन्नों के पुरालेख के रूप में ही माना जाता है; पुरालेख के वार्ता पन्ने का कोई तुक नहीं है क्योंकि पुरालेख में संपादन नहीं किया जाता और उसके वार्ता पन्ने की आवश्यकता नहीं होती। --SM7--बातचीत-- 05:20, 4 सितंबर 2018 (UTC)
जी, ठीक है। धन्यवाद।--आर्यावर्त (वार्ता) 05:29, 4 सितंबर 2018 (UTC)

पुरालेखसंपादित करें

नमस्कार, पुरालेख साँचा अब मेरे वार्ता पृष्ठ पर पुरालेखों की सूची नहीं दर्शा रहा है, जबकि यह पहले दर्शाता था। कृपया साँचे में बदलावों की एक बार पुनः जाँच करें।--सिद्धार्थ घई (वार्ता) 03:47, 8 सितंबर 2018 (UTC)

सिद्धार्थ घई जी, फिलहाल इसे पुराने अवतरण पर कर दिया है। रात में समय मिला तो देखूँगा। ----SM7--बातचीत-- 04:09, 8 सितंबर 2018 (UTC)

ज्वालामुखी उद्भेदनसंपादित करें

Types of वॉलकनिक eruption को हिंदी में कैसे रूपांतर करें। कहीं कोइलिंक है क्या? Emasterji (वार्ता) 05:03, 16 सितंबर 2018 (UTC)emasterji

Emasterji जी ऐसा कोई लिंक नहीं उपलब्ध। यदि आप इस विषय से संबंधित हैं तो जो अनुवाद आपको बहुधा पाठ्यपुस्तकों में मिलते हैं उन्हें लिखदें। सुधार तो कभी भी किया ही जा सकता। शुभकामनायें। --SM7--बातचीत-- 06:01, 16 सितंबर 2018 (UTC)

समान श्रेणी है तो पुरानी स्थापित कीसंपादित करें

नमस्ते, आपने कुछ सम्पादन पूर्ववत् किये परन्तु वो उचित नहीं था, अतः आपके व्यवहार सा ही मैंने व्यवहार किया। मशीनी अनुवाद बाद में बना था और यान्त्रिक अनुवाद पहेले। आप मुझे सम्पादन से दूर रखना चाहते हैं, ये सर्वविदित है, परन्तु मैं काम करने का प्रयास कर रहा हूँ और सीधे सीधे ये प्रताड़ित किया जा रहा है। मेरा निवेदन है कि शान्ति से काम करें और करने दें। अस्तु। ॐNehalDaveND 12:24, 17 सितंबर 2018 (UTC)

गेमिंग द सिस्टम समझते हो ? --SM7--बातचीत-- 12:29, 17 सितंबर 2018 (UTC)

जन्माष्टमी और गणेश चतुर्थी को काम किया था, तो एक साथ दो दिन का अवकाश मिला है, मैं आपके साथ विवाद करके उसे व्यर्थ करना नहीं चाहता। मुझे इतना पता है कि मशीनी अनुवाद और यान्त्रिक अनुवाद दोनों एक समान श्रेणी है और यान्त्रिक अनुवाद की श्रेणी पहले बनी थी, तो मैंने समानता के लिये श्रेणीबद्धता का कार्य किया है। इसके अतिरिक्त मेरा कोई मत है ही नहीं। अस्तु। ॐNehalDaveND 12:36, 17 सितंबर 2018 (UTC)
NehalDaveND मैंने कल भी छुट्टी ले रखी है, इसका मतलब यह नहीं एक आपही अहसान कर रहे योगदान करके। बहरहाल, आप बड़ी खूबसूरती से अपना संस्कृताइजेशन का एजेंडा पूरा करने का प्रयास कर रहे। आपको मौका मिला पुरानी और नई श्रेणी के रूप में। श्रेणियों का उपयोग देखें तो नई वाली अधिक लेखों में प्रयुक्त थी लेकिन उसे आपको हटवाना था जिसके लिए आपने पाँच लेखों को नई श्रेणी से पुरानी में डाला। कुछ अन्य लेखों को उस श्रेणी में जोड़ा और कुल संख्या पुरानी श्रेणी में नौ हो गयी जबकि पहले उसमें एकमात्र लेख था। फिर नई श्रेणी को हहेच किया।
उपरोक्त क्रियाकलाप के बजाय आप श्रेणियों के विलय का नामांकन कर सकते थे। ख़ास तौर से इस कारण कि आपको अधिक प्रयुक्त श्रेणी के ऊपर कम प्रयुक्त और विकीडेटा ने न जुडी श्रेणी को वरीयता देनी थी। क्या आप बताएँगे कि यदि "मशीनी अनुवाद" नाम "यान्त्रिक अनुवाद" से ज्यादा स्वीकार्य होने पर भी आपने श्रेणी को पुराने होने की वरीयता के बजाय स्वीकार्यता और इस्तेमाल के आधार पर विलय करना क्यों उचित नहीं लगा।
आपके द्वारा किया संपादन इसलिए पूर्ववत किया गया क्योंकि आपका यह कार्य गलत भी था और दुर्भावना पूर्ण भी। पूर्ववत आपके संपादन को किया गया था और इसका कारण जानने के लिए प्रश्न करने का कष्ट भी आपही को करना था न कि स्वयं कूद कर इस नतीजे पर पहुँच जाना कि पूर्ववत करना गलत है और बर्बरता है, उसे आप पुनः प्रत्यावर्तित कर सकते हैं।
एक पुनरीक्षक को |बर्बरता क्या नहीं है तक न पता हो, प्रत्यावर्तन और पुनः प्रत्यावर्तन में संबंधित सदस्य से बातचीत करने की जिम्मेदारी किसकी होती, और प्रत्यावर्तन कब नहीं करना चाहिए; ऐसी दशा में उसे इस अधिकार को रखने का बिलकुल हक़ नहीं। आप बिना नीतियों को जाने समझे इतने दिनों तक पुनरीक्षण के नाम पे क्या करते रहे यह भी जाँचा जाना चाहिए। अतएव आपको पुनरीक्षक के रूप में कार्य करते रहना चाहिए अथवा नहीं इसके लिए मैं उचित स्थान पर सदस्यों की राय जानने हेतु और यथोचित निर्णय लेने हेतु रखता हूँ। आगे आप मुझे नहीं समुदाय अथवा प्रबंधकों को संबोधित करके अपनी बात रखें। सादर। --SM7--बातचीत-- 17:08, 17 सितंबर 2018 (UTC)
बर्बरता जानबूझकर सामग्री जोड़ कर, हटा कर या परिवर्तित कर कर विकिपीडिया की अखंडता के साथ समझौता करने का प्रयास है। ये प्रथम वाक्य आपने पढ़ा होता तो आपको बर्बरता का अर्थ पता चलता। वास्तविकता ये है कि आपको पहले चर्चा करनी चाहिये थी कि, मैंने किस कारण ये परिवर्तन किया। उसके पश्चात् यदि मेरा कारण अनुचित लगता तो आप आगे कार्यवाही कर सकते थे। मैं भी पुनरीक्षक हूँ, कम से कम परस्पर सद्भावना के कारण भी आप पूछ सकते थे। परन्तु आपने किये सम्पादन को पूर्ववत् किया। मेरे अधिकार हटाने के सन्दर्भ में जो आपने नामाङ्कन किया है, वो आपकी मनमानी को प्रदर्शित करता है। समुदाय जो निर्णय लेगा वो मुझे स्वीकार्य होगा। उर्दू भाषा, अंग्रेजी भाषा के शब्द यदि हिन्दी में स्वतन्त्रता से विचरण कर सकते हैं, तो संस्कृत के क्यों नहीं? मैं उन शब्दों का विरोधी नहीं परन्तु आप वैसे मुझे प्रस्तुत कर रहे हैं। वास्तव में आप और पीयूष जी संस्कृत शब्दों के विरोध में अभियान चलाए हुए हैं, जो उर्दू और अंग्रेजी शब्दो के जैसे ही हिन्दी का अङ्ग है। अब दो श्रेणी है, जो समान नाम से है, तो विवेक के आधार पर पूर्वनिर्मित श्रेणी को स्थापित करना था और मैंने किया। यदि कहीं इससे विपरीत भी हुआ है, तो मैंने उसके सन्दर्भ में कुछ नहीं बोला है। कृपया अपनी दुर्भावना से मेरे कार्य को अनुचित न घोषित करें। अपनी दुर्भावना को अपने से दूर करें। अस्तु। ॐNehalDaveND 02:00, 18 सितंबर 2018 (UTC)
चेतावनी - सामुदायिक इनपुट को अस्वीकार या उपेक्षित करना: निष्पक्ष संपादकों के विरोध के बावजूद एक निश्चित बिंदु के अनुसरण में संपादन करना जारी रखना। इस नियम के अन्तर्गत विघटनकारी सम्पादन किया है आपने। समुदाय में मत रहा है कि, यदि शब्द भेद से एक जैसे पृष्ठों या श्रेणीओँ का निर्माण हो जाए, तो पहले बने में पश्चात् बने को विलय करना चाहिये। या दूरसे को दूर करना चाहिये। इस के पश्चात् भी संस्कृत शब्दों के प्रयोग को संस्कृतीकरण करने के आरोप-बिन्दु का अनुसरण करके आपने सम्पादन अविरत किया है। विकिपीडिया:विघटनकारी सम्पादन इस लेख में आप इसका परिणाम जान सकते हैं। अस्तु। ॐNehalDaveND 03:34, 18 सितंबर 2018 (UTC)

प्रबन्धक अधिकार नियमावलीसंपादित करें

प्रबन्धक अधिकार नियमावली पर आपके और आर्यावर्त जी के २८ सितम्बर २०१८ के बदलावों को पूर्ववत कर दिया गया है क्योंकि ये बदलाव बिना किसी पूर्व आम सहमति के किये गये थे।☆★संजीव कुमार (✉✉) 19:46, 19 अक्टूबर 2018 (UTC)

सदस्य "SM7" के सदस्य पृष्ठ पर वापस जाएँ