"मधुमोम": अवतरणों में अंतर

824 बाइट्स हटाए गए ,  6 वर्ष पहले
छो
106.215.176.134 (Talk) के संपादनों को हटाकर Sanjeev bot के आखिरी अवतरण को पूर्ववत...
No edit summary
टैग: मोबाइल संपादन मोबाइल वेब संपादन
छो (106.215.176.134 (Talk) के संपादनों को हटाकर Sanjeev bot के आखिरी अवतरण को पूर्ववत...)
'''मधुमोम''' या '''मधुमक्खियों का मोम''', एपिस वंश की [[मधुमक्खी|मधुमक्खियों]] द्वारा उनके [[मधुमक्खियों का छत्ता|छत्ते]] में उत्पादित एक प्राकृतिक [[मोम]] है। प्रत्येक श्रमिक मक्खी (मादा) के उदर में उपस्थित आठ मोमोत्पादक ग्रंथियों द्वारा मोम का उत्पादन किया जाता है। इन ग्रंथियों का आकार श्रमिक की आयु और उसकी दैनिक उड़ानों के दौरान इनमें आयी क्षीणता पर निर्भर करता है। ताजा उत्पादित मोम पारदर्शी और रंगहीन होता है पर मधुमक्खियों द्वारा चबाये जाने से यह अपारदर्शी हो जाता है। मधुकोश के इस सफेद रंग के मोम को उसका पीला या भूरा रंग, इसमें मिलने वाले [[पराग]] तेलों और पादपांश के कारण होता है।
 
== गुण ==
== गुण ==मधुमोम एक प्राकृतिक औषधि है |सर्दियों के मौसम में जब खुश्की से हाथ पैरों में बिवाइ हो जाती है तब इसकी बहुत ही सरल और प्रभावी औषधि आप घर पर बना सकते हैं |मधुमोम ५० ग्राम और तिल का तेल १०० ग्राम लेकर इस मिश्रण को पाँच मिनट गर्म कर के ठंडा हो जाने दें |बस आपकी दवा तैयार है |जब आपके हाथ पैर ठंडे मौसम में फट जाये तो इस दवा को दवा
 
== उपयोग ==